'16 की बजाय 30 जान भी जाती तो पीछे नहीं हटते' कहने वाले मुलायम की बहू ने कारसेवक गोलीकांड पर दिया ये बयान

'16 की बजाय 30 जान भी जाती तो पीछे नहीं हटते' कहने वाले मुलायम की बहू ने कारसेवक गोलीकांड पर दिया ये बयान

मुलायम सिंह यादव की बहू अपर्णा यादव ने अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए 11 लाख रुपये का दान किया है। अवध प्रांत के प्रचारक कौशल और कार्यवाह प्रशांत भाटिया सपा नेता मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव के आवास पर पहुंचे।

सितंबर का महीना साल 2016 का वक्त था उत्तर प्रदेश में चुनाव होने में कुछ ही महीने का वक्त था और उस वक्त मुलायम सिह यादव का एक बयान खूब सुर्खियों में रहा था। अयोध्या में गोली चलवाने को लेकर मुलायम ने कहा कि देश की एकता के लिए यदि 16 की बजाय 30 जान भी जाती तो हम पीछे नहीं हटते। दरअसल, मुलायम उस वक्त की बात कर रहे थे जब उत्तर प्रदेश में वह मुख्यमंत्री हुआ करते थे। हिंदू साधु-संत अयोध्या कूच कर रहे थे। उन दिनों श्रद्धालुओं की भारी भीड़ अयोध्या पहुंचने लगी थी। प्रशासन ने अयोध्या में कर्फ्यू लगा रखा था, इसके चलते श्रद्धालुओं को प्रवेश नहीं दिया जा रहा था। पुलिस ने बाबरी मस्जिद के 1.5 किलोमीटर के दायरे में बैरिकेडिंग कर रखी थी। कारसेवकों की भीड़ बेकाबू हो गई थी। पहली बार 30 अक्टबूर, 1990 को कारसेवकों पर चली गोलियों में 5 लोगों की मौत हुई थीं। इस गोलीकांड के दो दिनों बाद ही 2 नवंबर को मारे गए कारसेवकों के चलते लोग गुस्से से भरे थे लोगों पर एक बार फिर फायरिंग कर दी, जिसमें करीब ढेड़ दर्जन लोगों की मौत हो गई। 

मुलायम की बहू ने दिए 11 लाख रुपये

इस घटना को गुजरे तीन दशक से भी ज्यादा का वक्त हो चुका है और रामजन्मभूमि विवाद पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा रामलला के नाम जमीन के हक पर हस्ताक्षर भी किया जा चुका है और शिलान्यास भी पीएम मोदी द्वारा किया जा चुका है। लेकिन आज इस घटना को खुद यादव परविरा की बहू अपर्णा यादव द्वारा याद किया गया। दरअसल, राम मंदिर निर्माण के लिए देशभर में चंदा एकत्रित किया जा रहा है। इसी क्रम में समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव की बहू अपर्णा यादव ने अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए 11 लाख रुपये का दान किया है। अवध प्रांत के प्रचारक कौशल और कार्यवाह प्रशांत भाटिया सपा नेता मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव के आवास पर पहुंचे। अपर्णा ने प्रांत प्रचारक को राम मंदिर निर्माण के लिए 11 लाख रुपये दिए। 

उस दौर का किया जिक्र...

अपर्णा यादव ने कारसेवकों पर गोली चलवाने के आरोपों पर भी बयान दिया। उन्होंने कहा कि मैंने ये स्वेच्छा से किया हैष मैं अपने परिवार के लिए जिम्मेदारी नहीं ले सकती। अतीत कभी भी भविष्य के बराबर नहीं होता है। उन्होंने अयोध्या गोलीकांड को दुखद बताया। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।