मुंबई के अस्पताल में कर्मचारी की मौत के बाद सहकर्मियों ने किया विरोध-प्रदर्शन, कर्मचारी संघ ने लगाया ये आरोप

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 26, 2020   18:03
मुंबई के अस्पताल में कर्मचारी की मौत के बाद सहकर्मियों ने किया विरोध-प्रदर्शन, कर्मचारी संघ ने लगाया ये आरोप

कर्मचारी संघ के एक अधिकारी ने आरोप लगाया कि मृतक को शरीर में दर्द की शिकायत के बावजूद छुट्टी नहीं दी गई थी।

मुंबई। मुंबई के केईएम अस्पताल में तैनात एक कर्मचारी की मौत के बाद मंगलवार को संस्थान के अन्य कर्मचारियों ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया जिसमें उन्होंने कोविड-19 महामारी के बीच नागरिक निकायों पर उनकी हालत के प्रति उदासीनता बरतने का आरोप लगाया गया। कर्मचारी संघ के एक अधिकारी ने आरोप लगाया कि मृतक को शरीर में दर्द की शिकायत के बावजूद छुट्टी नहीं दी गई थी। उन्होंने कहा, ‘‘वह पिछले दो दिनों से शरीर में दर्द और कमजोरी की शिकायत कर रहा था लेकिन उसकी छुट्टी मंजूर नहीं की गई।’’ 

इसे भी पढ़ें: मुंबई में कोरोना के बढ़ते संकट का असर गणेशोत्सव पर पड़ा, प्रमुख मंडल ने स्थगित किया समारोह 

अधिकारी ने दावा किया कि उस कर्मचारी की कोरोना वायरस की जांच नहीं की गई और शायद उसका इस बीमारी के लिए कोई इलाज भी नहीं किया गया। उन्होंने कहा, ‘‘उसकी मौत हमारे प्रति बीएमसी प्रशासन की उदासीनता को दर्शाती है। अगर हमें दस्ताने और मास्क जैसी बुनियादी सुरक्षा नहीं दी गई तो हमारा जीवन खतरे में पड़ सकता है।’’ अधिकारी ने बीएमसी से ठोस कदम उठाने की मांग की।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।