गैंगस्टर रवि पुजारी को 9 मार्च तक पुलिस हिरासत में भेज गया, मुंबई सेशंस कोर्ट में हुई पेशी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 23, 2021   15:07
गैंगस्टर रवि पुजारी को 9 मार्च तक पुलिस हिरासत में भेज गया, मुंबई सेशंस कोर्ट में हुई पेशी

मुंबई पुलिस ने गैंगस्टर रवि पुजारी को बेगुलुरू से यहां लाने के बाद विशेष मकोका अदालत में पेश किया , जिसने उसे 2016 के गोलीबारी के एक मामले में नौ मार्च तक के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया।

मुंबई। मुंबई पुलिस ने गैंगस्टर रवि पुजारी को बेगुलुरू से यहां लाने के बाद विशेष मकोका अदालत में पेश किया , जिसने उसे 2016 के गोलीबारी के एक मामले में नौ मार्च तक के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया। पुजारी को पिछले साल फरवरी में दक्षिण अफ्रीका से भारत लाया गया था और बेंगलुरु की एक जेल में रखा गया था। वह कई वर्षों से फरार था।

इसे भी पढ़ें: पीएम मोदी बोले- जलवायु परिवर्तन बड़ी चुनौती, आपदा को सहने वाला आधारभूत ढांचा समय की मांग

कर्नाटक की एक अदालत ने 21 अक्टूबर, 2016 को मुंबई के विले पार्ले इलाके में गोलीबारी के एक मामले में गैंगस्टर पुजारी को मुंबई पुलिस को सौंपने की इजाजत दे दी थी, जिसके बाद पुलिस शनिवार को उसे लाने के लिए बेंगलुरु रवाना हुई थी। इस घटना के बाद महाराष्ट्र संगठित अपराध नियंत्रण अधिनियम (मकोका) के प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया गया था। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि पुजारी को मंगलवार सुबह सड़क के रास्ते बेंगलुरु से मुंबई लाया गया।

इसे भी पढ़ें: पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन के सैनिकों के पीछे हटने की खबर पर करीबी नजर : अमेरिका

इस मामले की जांच कर रही मुंबई पुलिस की उगाही रोधी प्रकोष्ठ ने उसे यहां की एक विशेष मकोका अदालत में विशेष किया। विशेष न्यायाधीश डी ई कोथालिकर ने पुजारी को नौ मार्च तक के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया। पुलिस ने बताया कि इस मामले में पुजारी के सात सहयोगी पहले से ही जेल में हैं। उन्होंने बताया कि कर्नाटक के उडुपी से ताल्लुक रखने वाला पुजारी विदेश से उगाही रैकेट चलाता था और कारोबारियों तथा फिल्म हस्तियों को निशाना बनाता था।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...