केंद्रीय मंत्री नाईक ने अनुच्छेद 370 को जम्मू कश्मीर का ‘नासूर’ बताया

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Aug 14 2019 12:00PM
केंद्रीय मंत्री नाईक ने अनुच्छेद 370 को जम्मू कश्मीर का ‘नासूर’ बताया
Image Source: Google

उन्होंने दिल्ली से फोन पर पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘इस साल स्वतंत्रता दिवस अधिक महत्वपूर्ण है क्योंकि हमने जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 रूपी नासूर का इलाज कर दिया है। हम कह सकते हैं कि कश्मीर के लोग अब असल मायने में स्वतंत्रता दिवस मना सकेंगे।’’

पणजी। केंद्रीय मंत्री श्रीपद नाईक ने बुधवार को कहा कि इस साल स्वतंत्रता दिवस समारोह के बड़े मायने हैं क्योंकि केंद्र ने जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 रूपी ‘नासूर’ का इलाज कर दिया है। रक्षा राज्यमंत्री ने कहा कि कश्मीर घाटी के निवासी ‘‘असल मायने’’ में अब स्वतंत्रता दिवस का जश्न मना सकेंगे और यह क्षेत्र देश के अन्य राज्यों के साथ समृद्ध होगा। केंद्र ने पांच अगस्त को घोषणा की थी कि अनुच्छेद 370 के तहत प्रदत्त जम्मू कश्मीर के विशेष दर्जे को हटाया जा रहा है और उसने राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित कर दिया था।


नाईक ने कहा कि यह मोदी के नेतृत्व वाली सरकार के इस कार्यकाल के महत्वपूर्ण फैसलों में से एक है। उन्होंने दिल्ली से फोन पर पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘इस साल स्वतंत्रता दिवस अधिक महत्वपूर्ण है क्योंकि हमने जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 रूपी नासूर का इलाज कर दिया है। हम कह सकते हैं कि कश्मीर के लोग अब असल मायने में स्वतंत्रता दिवस मना सकेंगे।’’
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि जम्मू कश्मीर हमेशा भारत का अभिन्न अंग था लेकिन पिछली सरकारों की ‘‘गलत नीतियों’’ के कारण यह विकास से वंचित रहा। उन्होंने कहा, ‘‘पूरे भारत की मांग थी कि अनुच्छेद 370 हटाया जाए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस मांग को पूरा करने का वादा किया था और उन्होंने ऐसा कर दिखाया।’’ नाईक ने कहा कि जो लोग उस क्षेत्र में आतंकवाद पाल-पोस रहे थे उन्हें अब केंद्र सरकार के फैसले के बाद ‘‘अपनी दुकानें बंद’’ करनी पड़ेगी। उन्होंने कहा, ‘‘जम्मू कश्मीर देश के अन्य राज्यों के साथ समृद्ध होगा। यह अब पिछड़ा राज्य नहीं रहेगा।’’


 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप