Nanded Violence | त्रिपुरा हिंसा के बदले की आग महाराष्ट्र पहुंची, नांदेड़- अमरावती- मालेगांव में भीड़ ने जुलूस की आड़ में की पत्थरबाजी

Nanded Violence | त्रिपुरा हिंसा के बदले की आग महाराष्ट्र पहुंची, नांदेड़- अमरावती- मालेगांव में भीड़ ने जुलूस की आड़ में की पत्थरबाजी

त्रिपुरा में हुई हिंसा के खिलाफ महाराष्ट्र के अमरावती में कुछ संगठनों के विरोध प्रदर्शन के दौरान अज्ञात व्यक्तियों द्वारा दुकानों पर पथराव करने के बाद इलाके के कई हिस्सों में तनाव फैल गया। महाराष्ट्र में शुक्रवार को हुई पथराव की घटना के सिलसिले में नांदेड़ में अब तक करीब 25 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

महाराष्ट्र। बंग्लादेश में हिंदुओं के साथ हुई हिंसा के विरोध में त्रिपुरा में भी हिंसा की खबरें सामने आयी। त्रिपुरा हिंसा की आग अब महाराष्ट्र तक पहुंच चुकी है। ताजा जानकारी के अनुसार त्रिपुरा में हुई हिंसा के खिलाफ महाराष्ट्र के अमरावती नांदेड़, मालेगांव में समूह द्वारा आगजनी और पथराव की घटनाएं सामने आयी हैं। हिंसा करने वालें के लिखाफ मामले दर्ज किए हैं। जिसनें 25 लोगों के नाम सामने आये हैं जिसमें से 5 को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

नांदेड़, अमरावती, मालेगांव हिंसा मामले में 25 लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज

पिछले महीने त्रिपुरा में हुई हिंसा के खिलाफ महाराष्ट्र के अमरावती में शुक्रवार को कुछ संगठनों के विरोध प्रदर्शन के दौरान कुछ अज्ञात व्यक्तियों द्वारा दुकानों पर पथराव करने के बाद इलाके के कई हिस्सों में तनाव फैल गया। महाराष्ट्र में शुक्रवार को हुई पथराव की घटना के सिलसिले में नांदेड़ में अब तक करीब 25 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। मामले नांदेड़ के शिवाजी नगर थाना क्षेत्र में दर्ज किए गए हैं। जानकारी के अनुसार पुलिस ने पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि अन्य आरोपियों की तलाश जारी है। त्रिपुरा में हुई हिंसा के खिलाफ विरोध प्रदर्शनों की पृष्ठभूमि में नांदेड़, मालेगांव और अमरावती से पथराव की घटनाएं सामने आईं। 

इसे भी पढ़ें: प्रियंका ने यूपी में अपराधिक घटनाओं को लेकर अमित शाह पर निशाना साधा

गृह मंत्री दिलीप वलसे की अपील- राज्म में शांति बनाए रखें

पथराव की घटना पर टिप्पणी करते हुए, महाराष्ट्र के गृह मंत्री दिलीप वलसे पाटिल ने कहा, "राज्य भर के मुसलमानों ने त्रिपुरा में हिंसा के खिलाफ एक विरोध मार्च निकाला था। इस दौरान नांदेड़, मालेगांव, अमरावती और कुछ अन्य स्थानों पर पथराव किया गया। मैं सभी हिंदुओं और मुसलमानों से शांति बनाए रखने की अपील करता हूं। उन्होंने कहा आगे कहा कि स्थिति नियंत्रण में है, मैं वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के माध्यम से व्यक्तिगत रूप से स्थिति की निगरानी कर रहा हूं। अगर कोई दोषी पाया जाता है, तो उसे बख्शा नहीं जाएगा। हमें सामाजिक सद्भाव बनाए रखने की जरूरत है, मैं सभी से अपील करता हूं। मैं पुलिस से स्थिति को नियंत्रित करने की भी अपील करता हूं। संयम के साथ और शांति बनाए रखें।

इसे भी पढ़ें: शराब के नशे में अपनी तीन बेट‍ियों के सिर पर मारा हथौड़ा फिर जिंदा जलाया, हुई फांसी की सजा

भीड़ ने पुलिस पर भी किया हमला

पथराव की घटनाओं में करीब 7-8 पुलिस अधिकारी घायल हो गए। नांदेड़ के पुलिस अधीक्षक प्रमोद कुमार शेवाले ने कहा नांदेड़ में रज़ा अकादमी द्वारा एक धरना आयोजित किया गया था। कुछ युवा मिश्रित आवासीय क्षेत्रों की ओर जा रहे थे, पुलिस ने उन्हें रोका जिसके बाद उन्होंने पथराव किया। पुलिस ने उन्हें तितर-बितर करने के लिए बल प्रयोग किया। यह शहर में 3-4 स्थानों पर हुआ। शेवाले ने कहा, "हम अपराध दर्ज कर रहे हैं, वर्तमान में नांदेड़ में स्थिति शांतिपूर्ण है। मैं लोगों से अफवाहों पर विश्वास न करने का अनुरोध करता हूं। 7-8 पुलिस अधिकारी घायल हुए हैं।"

इस बीच, अमरावती में, जिले में शांति बहाल कर दी गई है और स्थानीय पुलिस को सूचित किया गया है कि प्राप्त शिकायतों के आधार पर मामले दर्ज किए गए हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।