नारद मामला: सीबीआई के सामने पेश नहीं हुए भाजपा नेता मुकुल राय

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 27, 2019   18:29
नारद मामला: सीबीआई के सामने पेश नहीं हुए भाजपा नेता मुकुल राय

रॉय उस समय तृणमूल कांग्रेस के सांसद थे और कथित रूप से उन्हें मैथ्यू सैमुअल के साथ बातचीत करते हुए देखा गया था जिसने 2014 में स्टिंग ऑपरेशन करने का दावा किया था।

कोलकाता। भाजपा नेता मुकुल रॉय शुक्रवार को सीबीआई के समक्ष उपस्थित नहीं हुए और उन्होंने इसकी वजह पूर्व निर्धारित व्यस्तताओं को बताया है। एजेंसी के सूत्रों ने यह जानकारी दी।  केंद्रीय एजेंसी ने नारद स्टिंग ऑपरेशन के सिलसिले में पूछताछ के लिए रॉय को समन भेजा है।  सूत्रों के मुताबिक पूर्व रेलमंत्री रॉय ने पेश होने के लिए केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) से और समय देने की मांग की है।

इसे भी पढ़ें: बाबरी विध्वंस केस में कल्याण सिंह कोर्ट में हुए पेश, कहा- मैंने हमेशा अदालत का किया सम्मान

उन्होंने बताया, ‘‘रॉय ने सीबीआई को सूचना दी कि पूर्व निर्धारित व्यस्तताओं के चलते वह आज उपस्थित होने में असमर्थ हैं। रॉय को अब शनिवार को जांच दल के समक्ष उपस्थित होने के लिए कहा गया है।’’ एजेंसी ने गुरुवार को मामले में वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी एसएमएच मिर्जा को गिरफ्तार किया था। 2016 में टेप सामने आने के बाद यह पहली गिरफ्तारी है। 2016 के पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव से पहले जारी किये गये फुटेज में तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं जैसे दिखने वाले व्यक्ति और मिर्जा एक फर्जी कंपनी को लाभ पहुंचाने के एवज में उसके प्रतिनिधियों से रुपये लेते देखे गये थे। 

इसे भी पढ़ें: बाबरी विध्वंस केस में कल्याण को मिली जमानत, राम मंदिर पर बोले- अपनी मंशा कोर्ट में बताएंगे

रॉय उस समय तृणमूल कांग्रेस के सांसद थे और कथित रूप से उन्हें मैथ्यू सैमुअल के साथ बातचीत करते हुए देखा गया था जिसने 2014 में स्टिंग ऑपरेशन करने का दावा किया था।  सीबीआई को अभी भी फुटेज की प्रमाणिकता जांचने के लिए रॉय की आवाज के नमूने की जांच करनी है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...