नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े पर लगाया मुस्लिम होने का आरोप, काशिफ खान के साथ संबंधों को लेकर किया यह दावा

नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े पर लगाया मुस्लिम होने का आरोप, काशिफ खान के साथ संबंधों को लेकर किया यह दावा

समीर वानखेडे को लेकर नवाब मलिक लगातार हमलावर हैं। वह नए-नए तथ्य समीर वानखेड़े को लेकर पेश करते रहते हैं। हालांकि इन तमाम मुद्दों को लेकर फिलहाल जांच की जा रही है।

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के अधिकारी समीर वानखेडे को लेकर नवाब मलिक ने एक नया बम फोड़ा है। नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े के स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट जारी करते हुए दावा किया कि वह मुस्लिम हैं। नवाब मलिक ने जो सर्टिफिकेट जारी किया है वह सेंट जोसेफ हाई स्कूल और सेंट पॉल हाई स्कूल का लीविंग सर्टिफिकेट हैं। दोनों ही सर्टिफिकेट समीर वानखेड़े के हैं। दोनों ही सर्टिफिकेट में समीर वानखेडे का नाम वानखेडे समीर दाऊद लिखा हुआ है और उनके धर्म के आगे मुस्लिम लिखा हुआ है। अपने इस दावे के बाद नवाब मलिक ने एक ट्वीट किया सच का आईना ज़माने को दिखाते जाएँगे, झूठ की सारी दीवारों को गिराते जाएँगे।

समीर वानखेडे को लेकर नवाब मलिक लगातार हमलावर हैं। वह नए-नए तथ्य समीर वानखेड़े को लेकर पेश करते रहते हैं। हालांकि इन तमाम मुद्दों को लेकर फिलहाल जांच की जा रही है। मलिक ने क्रूज पार्टी के छापे को फर्जी करार दिया और एनसीबी एवं वानखेड़े पर लोगों को फंसाने का आरोप लगाया। वानखेड़े ने इससे पहले अपने ऊपर लगे आरोपों का खंडन किया था। इससे पहले भी नवाब मलिक ने सवाल खड़े करते हुए कहा था कि एनसीबी क्रूज पार्टी के आयोजकों में से एक काशिफ खान को क्यों बचा रहा है और मादक पदार्थ रोधी एजेंसी के अधिकारी समीर वानखेड़े का काशिफ के साथ क्या संबंध है? 

इसे भी पढ़ें: Prabhasakshi's Newsroom। Nawab Malik ने फडणवीस पर लगाया आरोप तो शेलार ने कहा- बम फुस्सी निकला

काशिफ खान से वानखेड़े के रिश्तों पर उठाए

नवाब मलिक ने दावा किया कि खान और एनसीबी के मुंबई जोन के निदेशक वानखेड़े के बीच मजबूत रिश्ता है। एनसीबी ने गत माह क्रूज पर छापा मारा था। मलिक ने एनसीबी के गवाह के पी गोसावी और दिल्ली के एक ‘मुखबिर’ के बीच कथित चैट को भी ट्वीट किया और कहा कि ट्वीट से पता चलता है कि वे उन लोगों को फंसाने की योजना बना रहे थे जो कॉर्डेलिया क्रूज पर पार्टी में शामिल होने जा रहे थे। राकांपा नेता ने कहा, यह समीर वानखेड़े की निजी सेना है, इसलिए उन्हें बहुत कुछ जवाब देना है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।