• राकांपा नेता नवाब मलिक ने बीजेपी पर गलत सूचना फैलाने का लगाया आरोप

राकांपा के वरिष्ठ नेता और कैबिनेट मंत्री नवाब मलिक ने राज्य की भाजपा सरकार पर गलत सूचना फैलाने और लोगों की धार्मिक भावनाओं को भड़काने का आरोप लगाया है।

महाराष्ट्र में महा विकास अघाड़ी (एमवीए) ने केंद्र की भाजपा नेतृत्व पर निशाना साधा है। राकांपा के वरिष्ठ नेता और कैबिनेट मंत्री नवाब मलिक ने राज्य की भाजपा सरकार पर गलत सूचना फैलाने और लोगों की धार्मिक भावनाओं को भड़काने का आरोप लगाया है। नवाब मलिक ने कहा कि केंद्र सरकार ने दिशा-निर्देश दिए हैं कि त्योहारों के दौरान भीड़ जमा नहीं होनी चाहिए। यह एक गंभीर मसला है। महाराष्ट्र सरकार ने त्योहारों के दौरान भीड़ जमा होने की अनुमति नहीं दी। हमने सभी त्योहारों के दौरान सभी कोविड -19 प्रोटोकॉल बनाए रखे हैं। केंद्र सरकार अलग-अलग सलाह देती है, लेकिन हैरानी की बात यह है कि राज्य में भाजपा नेता किसी तरह गलत सूचना फैलाना और लोगों में दहशत पैदा करना चाहते हैं।

इसे भी पढ़ें: राज्यपाल और महाराष्ट्र सरकार में बढ़ा टकराव, मंत्री बोले- संवैधानिक पद पर RSS के लिए कर रहे काम

राजनीतिक लाभ लेने के लिए वे लोगों की धार्मिक भावनाओं को भड़काना चाहते हैं। एक तरफ प्रधानमंत्री मोदी खुद कहते हैं कि हर एक को कोविड-19 सुरक्षा नियमों का पालन करने की जरूरत है और दूसरी तरफ यह आश्चर्य की बात है कि भाजपा नेता खुद उनकी एक नहीं सुनते हैं।

वहीं भाजपा नेता नीतीश राणे ने इससे पहले राज्य सरकार द्वारा गणपति समारोहों पर लगाए गए प्रतिबंधों पर असंतोष व्यक्त किया था। नीतीश राणे ने कहा कि विभिन्न गणपति मंडलों की वित्तीय हालत ठीक नहीं थी और उन्हें कुछ पैसे कमाने से रोकने का कोई मतलब नहीं था। उन्होंने एमवीए पर भ्रष्ट होने का आरोप लगाया।

इस बीच कांग्रेस नेता सचिन सावंत ने केंद्र की सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि मोदी सरकार राजनीतिक फायदे के लिए केंद्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही है।