राजग विपक्षी शासित राज्यों को धौंस दिखाता है, धमकाता है: मल्लिकार्जुन खड़गे

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 30, 2018   20:14
राजग विपक्षी शासित राज्यों को धौंस दिखाता है, धमकाता है: मल्लिकार्जुन खड़गे

उन्होंने आरोप लगाया कि राजग सरकार भारतीय रिजर्व बैंक, केंद्रीय जांच ब्यूरो, केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) जैसी स्वायत्त संस्थाओं के कामकाज में दखल दे रही है। देश में लोकतंत्र एवं संविधान की रक्षा करने की जरुरत है।

हैदराबाद। वरिष्ठ कांग्रेस नेता एम मल्लिकार्जुन खड़गे ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि राजग सरकार ने विपक्षी दल शासित राज्यों के प्रति ‘धौंस दिखाने और धमकाने’ का रवैया अपना रखा है। उन्होंने दावा किया कि उनके प्रति सरकार का रवैया सही नहीं रहा है।

लोकसभा में कांग्रेस के नेता ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘वे सभी को धमकाते हैं और उन्हें धौंस दिखाते हैं। चाहे पश्चिम बंगाल हो या तमिलनाडु या केरल, वहां कोई भी हो, जहां उनकी पार्टी (सत्ता में) नहीं है, वे उन्हें धमकाते हैं। यदि आप मेरे साथ नहीं आएंगे तो मैं ऐसा करुंगा।’’

यह भी पढ़ें:  मोदी भारत के साथ वही करना चाहते हैं जो हिटलर ने जर्मनी के साथ किया था: खड़गे

उन्होंने आरोप लगाया कि राजग सरकार भारतीय रिजर्व बैंक, केंद्रीय जांच ब्यूरो, केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) जैसी स्वायत्त संस्थाओं के कामकाज में दखल दे रही है। देश में लोकतंत्र एवं संविधान की रक्षा करने की जरुरत है।

यह भी पढ़ें: नोटबंदी, जीएसटी और रक्षा खरीद का होना चाहिए कैग ऑडिट: खड़गे

खड़गे ने कहा, ‘‘मुझे पता है क्योंकि मैं खुद ही सीवीसी समिति में हूं।’’ खड़गे लोकसभा में कांग्रेस के नेता के तौर पर सीबीआई जैसे संगठनों के प्रमुखों का चयन करने वाली विभिन्न समितियों के सदस्य हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री संसद में नियमित रुप से नहीं आते हैं। केंद्रीय मंत्रियों को पता नहीं होता कि उनके विभागों में क्या निर्णय किए गये हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...