प्रवासी मजदूरों की घर वापसी के लिए सोची समझी रणनीति की जरूरत: अशोक गहलोत

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 25, 2020   19:39
प्रवासी मजदूरों की घर वापसी के लिए सोची समझी रणनीति की जरूरत: अशोक गहलोत

गहलोत ने लिखा है कि कोरोना वायरस संक्रमण महामारी के खिलाफ लड़ाई में पूरा देश एकजुट है और केंद्र को राज्यों में किस पार्टी की सरकार है इसको देखे बिना, सभी राज्यों के लिए समान दिशानिर्देश जारी करते हुए इसमें भी एकता दिखानी चाहिए।

जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लॉकडाउन के कारण दूसरे राज्यों में फंसे मजदूरों की घरवापसी का मुद्दा फिर उठाते हुए शनिवार को कहा कि इन मजदूरों की आवाजाही के लिए कोई सुगम रणनीति बननी चाहिए। गहलोत ने ट्वीट किया, ‘‘मैं पहले दिन से ही कह रहा हूं कि देशभर में फंसे प्रवासी मजदूरों की सुगम आवाजाही के लिए एक रणनीति बननी चाहिए लेकिन दुर्भाग्य से इस पर कोई स्पष्टता नहीं है।’’

उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के कारण विभिन्न राज्यों में फंसे छात्रों और प्रवासी मजदूरों की आवाजाही को सुविधाजनक बनाने के लिए सोचसमझ कर बनाई गयी कोई रणनीति ही कामयाब हो सकती है। इसमें भारत सरकार द्वारा सुनियोजित तरीके से विशेष ट्रेन चलाना भी शामिल है। गहलोत ने लिखा है कि कोरोना वायरस संक्रमण महामारी के खिलाफ लड़ाई में पूरा देश एकजुट है और केंद्र को राज्यों में किस पार्टी की सरकार है इसको देखे बिना, सभी राज्यों के लिए समान दिशानिर्देश जारी करते हुए इसमें भी एकता दिखानी चाहिए। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...