UP में पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 19 नये मामले आये, अब तक कुल 7,15,49,386 को लगाई गई वैक्सीन

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 31, 2021   20:49
UP में पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 19 नये मामले आये, अब तक कुल 7,15,49,386 को लगाई गई वैक्सीन

पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 19 नये मामले आये। प्रदेश में कोरोना के कुल 256 एक्टिव मामले हैं तथा 185 लोग होम आइसोलेशन में प्रदेश में अब तक सर्विलांस टीम के माध्यम से 3,58,75,040 घरों के 17,34,51,782 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया।

मुख्यमंत्री के 3टी ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट अभियान के साथ-साथ अभिनव प्रयोग करते हुए टीकाकरण से प्रदेश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर को नियंत्रित करने में सफलता मिली। अभिनव प्रयोग सेें कोरोना संक्रमण में कमी आयी 3टी के कारण ही 30 अप्रैल, 2021 के एक्टिव मामले 3,10,783 से घटकर मात्र 256 हो गये है तथा 30 अप्रैल के प्रतिदिन कोविड केस 38 हजार से घटकर 19 हो गये। प्रदेश में सक्रिय मामले कम होने पर भी कोविड-19 के टेस्ट करने की संख्या घटाई नहीं जा रही हैं। प्रदेश देश में 07 करोड़ 15 लाख से अधिक टेस्ट किये जा चुके है। कुछ दिन पूर्व एक दिन में 30 लाख टीके लगाये गये थे। इस महीने लगभग 02 करोड़ टीके लगाये गये है, अगले महीने 03 करोड़ से अधिक टीके लगाने का लक्ष्य रखा गया। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये है कि रात्रि 10 बजे से रात्रिकालीन कर्फ्यू सख्ती से जारी रहेगा। सर्विलांस के माध्यम से सरकारी मशीनरी/निगरानी समितियों द्वारा उत्तर प्रदेश की 24 करोड़ की जनसंख्या में से अब तक लगभग 17.24 करोड़ से अधिक लोगों से उनका हालचाल जाना गया। संक्रमण को आरम्भिक स्तर पर ही रोकने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा बेहतर प्रयास किये जा रहे है इसके लिए लगातार टेस्टिंग पर जोर दिया जा रहा है। कोविड की तीसरी लहर की आशंका देखते हुए सभी जरूरी प्रयास यथाशीघ्र पूरी की जाये। मेडिकल कॉलेजों में पीडियाट्रिक आईसीयू/आइसोलेशन बेड 6600 से अधिक तैयार हो गये। अब तक प्रस्तावित 554 ऑक्सीजन प्लांट में से 357 क्रियाशील हो चुके हैं, शेष निर्माणाधीन प्लांट शीघ्र क्रियाशील हो जायेंगे। मुख्यमंत्री ने फिरोजाबाद का दौरा कर वायरल बुखार से पीड़ित बच्चों के परिवारों से बातचीत कर स्थिति का जायजा लिया तथा अधिकारियों को आवश्यक निर्देश भी दिये। टीम-9 की बैठक में मुख्यमंत्री जी ने अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा को निर्देशित किया है कि वे स्कूलों में कोविड प्रोटोकॉल का पालन करवायें व नियमित साफ-सफाई व सैनिटाइजेशन का कार्य भी निरन्तर जारी रखे। बैठक में मुख्यमंत्री जी ने पिछड़ा वर्ग व अनुसूचित जाति व जनजाति छात्रवृत्ति योजना की समीक्षा की छात्रवृत्ति से छूटे बच्चों को प्रपत्र भरवा कर छात्रवृत्ति प्रदान की जाये। 

इसे भी पढ़ें: आशिक ने प्यार में नाकाम होने पर की आत्महत्या, फेसबुक लाइव के जरिए प्रेमिका को दिया मैसेज

मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार कल से कक्षा 01 से 05 तक स्कूल खुलेंगे, इस वर्ष बच्चों की यूनिफार्म, जूतों व किताबों की धनराशि उनके माता-पिता के खातों में सीधे भेजी जायेगी। प्रदेश सरकार बाढ़ की स्थिति पर लगातार नजर रखे हुये है इसके लिए कंट्रोल रूम स्थापित किये गये हैं। बाढ़ की स्थिति को देखते हुए प्रदेश सरकार ने लगभग 01 लाख फूड पैकेट वितरित किये। एनडीआरएफ एवं एसडीआरएफ की टीमे तैनात की गयी है। बाढ़ पीड़ितों को तत्काल राशन उपलब्ध कराने का कार्य भी किया जा रहा है

मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार प्रदेश में बड़ी संख्या में संक्रमण कम होने के बावजूद, टेस्टिंग कम नहीं की जा रही। गत एक दिन में कुल 1,73,419 सैम्पल की जांच की गयी। विभिन्न जनपदांे से आरटीपीआर जांच के लिए 89,487 सैम्पल भेजे गये। अब तक कुल 7,23,18,979 सैम्पल की जांच की गयी। पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 19 नये मामले आये। प्रदेश में कोरोना के कुल 256 एक्टिव मामले हैं तथा 185 लोग होम आइसोलेशन में प्रदेश में अब तक सर्विलांस टीम के माध्यम से 3,58,75,040 घरों के 17,34,51,782 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया। प्रदेश में सर्विलांस एवं कोविड वैक्सीनेशन का कार्य निरन्तर किया जा रहा है। प्रदेश में कल 10,66,830 वैक्सीन की डोज लगायी गई। पहली डोज 6,00,65,480 तथा दूसरी डोज 1,14,83,906 लगायी गयी।

इसे भी पढ़ें: चौथी बार गोरखपुर से चुनाव का श्री गणेश करेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी!

अब तक कुल 7,15,49,386 डोज लगायी गयी। प्रदेश में हर धनात्मक केस के लिए 42 से ज्यादा टेस्ट किये गये है, जो देश में सबसे अधिक कान्टैक्ट ट्रेसिंग का कार्य प्रदेश में तेजी से किया जा रहा है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश में डेंगू, मलेरिया आदि बिमारियों से बचाव के लिए लगातार जन-जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। लोगों से अपील है कि वे पानी को जमा न होने दे, जिससे मच्छरों को पनपने से रोका जा सकेगा। प्रदेश में कोविड संक्रमण अभी समाप्त नहीं हुआ है, इसलिए कोविड प्रोटोकाल का पालन अवश्य करें। 

अपर मुख्य सचिव ‘सूचना’ नवनीत सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री जी के 3टी ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट अभियान के साथ-साथ अभिनव प्रयोग करते हुए टीकाकरण से प्रदेश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर को नियंत्रित करने में सफलता मिली है। इस अभिनव प्रयोग सेें कोरोना संक्रमण में कमी आयी है। उन्होंने बताया कि 3टी के कारण ही 30 अप्रैल, 2021 के एक्टिव मामले 3,10,783 से घटकर मात्र 256 हो गये है तथा 30 अप्रैल के प्रतिदिन कोविड केस 38 हजार से घटकर 19 हो गये है। प्रदेश में सक्रिय मामले कम होने पर भी कोविड-19 के टेस्ट करने की संख्या घटाई नहीं जा रही हैं। प्रदेश देश में 07 करोड़ 15 लाख से अधिक टेस्ट किये जा चुके है। कुछ दिन पूर्व एक दिन में 30 लाख टीके लगाये गये थे। उन्होंने बताया कि इस महीने लगभग 02 करोड़ टीके लगाये गये है। अगले महीने 03 करोड़ से अधिक टीके लगाने का लक्ष्य रखा गया है। सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिये है कि रात्रि 10 बजे से रात्रिकालीन कर्फ्यू सख्ती से जारी रहेगा। उन्होंने बताया कि सर्विलांस के माध्यम से सरकारी मशीनरी/निगरानी समितियों द्वारा उत्तर प्रदेश की 24 करोड़ की जनसंख्या में से अब तक लगभग 17.24 करोड़ से अधिक लोगों से उनका हालचाल जाना गया है। उन्होंने बताया कि संक्रमण को आरम्भिक स्तर पर ही रोकने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा बेहतर प्रयास किये जा रहे है। इसके लिए लगातार टेस्टिंग पर जोर दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि कोविड की तीसरी लहर की आशंका देखते हुए सभी जरूरी प्रयास यथाशीघ्र पूरी की जाए। मेडिकल कॉलेजों में पीडियाट्रिक आईसीयू/आइसोलेशन बेड 6600 से अधिक तैयार हो गये है। अब तक प्रस्तावित 554 ऑक्सीजन प्लांट में से 357 क्रियाशील हो चुके हैं। शेष निर्माणाधीन प्लांट शीघ्र क्रियाशील हो जायेंगे। उन्होेंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने फिरोजाबाद का दौरा कर वायरल बुखार से पीड़ित बच्चों के परिवारों से बातचीत कर स्थिति का जायजा लिया तथा अधिकारियों को आवश्यक निर्देश भी दिये। उन्होंने बताया कि टीम-9 की बैठक में मुख्यमंत्री जी ने अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा को निर्देशित किया है कि वे स्कूलों में कोविड प्रोटोकॉल का पालन करवायें व नियमित साफ-सफाई व सैनिटाइजेशन का कार्य भी निरन्तर जारी रखे। बैठक में मुख्यमंत्री जी ने पिछड़ा वर्ग व अनुसूचित जाति व जनजाति छात्रवृत्ति योजना की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने निर्देशित किया कि छात्रवृत्ति से छूटे बच्चों को प्रपत्र भरवा कर छात्रवृत्ति प्रदान की जाये।

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश की खबरें: उपमुख्यमंत्री केशव मौर्य ने अपने आवास पर जनता की समस्याओं को सुना

सहगल ने बताया कि कल से कक्षा 01 से 05 तक स्कूल खुलेंगे। मुख्यमंत्री जी के निर्देशानुसार इस वर्ष बच्चों की यूनिफार्म, जूतों व किताबों की धनराशि उनके माता-पिता के खातों में सीधे भेजी जायेगी। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार बाढ़ की स्थिति पर लगातार नजर रखे हुये है इसके लिए कंट्रोल रूम स्थापित किये गये है। बाढ़ की स्थिति को देखते हुए प्रदेश सरकार ने लगभग 01 लाख फूड पैकेट वितरित किये है। एनडीआरएफ एवं एसडीआरएफ की टीमे तैनात की गयी है। बाढ़ पीड़ितों को तत्काल राशन उपलब्ध कराने का कार्य भी किया जा रहा है। अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि मुख्यमंत्री जी के निर्देशानुसार प्रदेश में बड़ी संख्या में संक्रमण कम होने के बावजूद, टेस्टिंग कम नहीं की जा रही है। गत एक दिन में कुल 1,73,419 सैम्पल की जांच की गयी है। विभिन्न जनपदांे से आरटीपीआर जांच के लिए 89,487 सैम्पल भेजे गये। प्रदेश में अब तक कुल 7,23,18,979 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 19 नये मामले आये हैं। प्रदेश में कोरोना के कुल 256 एक्टिव मामले हैं तथा 185 लोग होम आइसोलेशन में है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में अब तक सर्विलांस टीम के माध्यम से 3,58,75,040 घरों के 17,34,51,782 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है। प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में सर्विलांस एवं कोविड वैक्सीनेशन का कार्य निरन्तर किया जा रहा है। प्रदेश में कल 10,66,830 वैक्सीन की डोज लगायी गई। पहली डोज 6,00,65,480 तथा दूसरी डोज 1,14,83,906 लगायी गयी। उन्होंने बताया कि अब तक कुल 7,15,49,386 डोज लगायी गयी हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश में हर धनात्मक केस के लिए 42 से ज्यादा टेस्ट किये गये है, जो देश में सबसे अधिक है। कान्टैक्ट ट्रेसिंग का कार्य प्रदेश में तेजी से किया जा रहा है तथा दैनिक पाजिटिव रेट 0.01 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश में डेंगू, मलेरिया आदि बिमारियों से बचाव के लिए लगातार जन-जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। इसके तहत लोगों से अपील है कि वे पानी को जमा न होने दे, जिससे मच्छरों को पनपने से रोका जा सकेगा। प्रदेश में कोविड संक्रमण अभी समाप्त नहीं हुआ है। इसलिए कोविड प्रोटोकाल का पालन अवश्य करें।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।