उत्तर प्रदेश में नए मदरसों को नहीं मिलेगी सरकारी ग्रांट, योगी सरकार ने लिया बड़ा फैसला

madrasas
ani
रेनू तिवारी । May 18, 2022 12:08PM
उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने 17 मई को नए मदरसों को अपनी अनुदान सूची से बाहर करने के प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया। अखिलेश यादव सरकार की नीति को खत्म करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कैबिनेट ने इस मुद्दे पर फैसला किया है कि नए मदरसों को अब से कोई अनुदान नहीं मिलेगा।

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने 17 मई को नए मदरसों को अपनी अनुदान सूची से बाहर करने के प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया। अखिलेश यादव सरकार की नीति को खत्म करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कैबिनेट ने इस मुद्दे पर फैसला किया है कि नए मदरसों को अब से कोई अनुदान नहीं मिलेगा।

इसे भी पढ़ें: मायावती का आरोप, BJP द्वारा धार्मिक स्थलों को बनाया जा रहा निशाना, बिगड़ सकते है हालात

अपने पिछले बजट में यूपी सरकार ने मदरसा आधुनिकीकरण योजना के तहत 479 करोड़ रुपये आवंटित किए थे, जिसमें राज्य के लगभग 16,000 पंजीकृत मदरसों में से 558 संस्थानों को धन दिया गया था। नए मदरसों को फंडिंग रोकने का फैसला उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के मदरसों में सभी छात्रों और शिक्षकों के लिए कक्षाएं शुरू करने से पहले राष्ट्रगान गाना अनिवार्य करने के एक सप्ताह के भीतर आया है। यह आदेश 12 मई को लागू किया गया था। 

इसे भी पढ़ें: Sheena Bora Murders Case | सुप्रीम कोर्ट ने शीना बोरा हत्याकांड में इंद्राणी मुखर्जी को जमानत दी

यूपी के अल्पसंख्यक मंत्री दानिश आजाद अंसारी ने यह आदेश पारित किया है। यूपी मदरसा शिक्षा बोर्ड की 24 मार्च को हुई बैठक में यह फैसला लिया गया।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़