NIA ने उस प्रिंटर को किया जब्त जिससे लिखा गया था अंबानी परिवार को धमकी भरा खत !

NIA
अंकित सिंह । Mar 23, 2021 2:29PM
सूत्र ने यह भी दावा किया कि एनआईए की टीम ने दक्षिण मुंबई के एक फाइव स्टार होटल का भी दौरा किया है और वहां के सीसीटीवी फुटेज की भी तलाशी ली है जहां वाजे काफी लंबे समय से रह रहा था। एंटीलिया मामले में फिलहाल सचिन बाजे एनआईए की हिरासत में है।

एंटीलिया केस की गुत्थी एक बार फिर से उलझती नजर आ रही है। मुकेश अंबानी के घर के बाहर से मिले विस्फोटक से भरे एसयूवी के बाद से इस मामले में हर रोज नए-नए खुलासे हो रहे है। इन सबके बीच एनआईए ने गिरफ्तार कॉन्स्टेबल विनायक शिंदे के कलवा फ्लैट से उस प्रिंटर को जब्त कर लिया है जिससे 25 फरवरी को उद्योगपति मुकेश अंबानी के बंगले के पास से मिले विस्फोटक से भरे स्कॉर्पियो से बरामद धमकी पत्र को प्रिंट किया गया था। इसके अलावा अधिकारियों ने पुलिस मुख्यालय से गिरफ्तार सचिन वाजे के कार्यालय से वित्तीय लेनदेन के विवरण वाले एक रजिस्टर को भी बरामद किया है। एनआईए को शक है कि तकनीक के माहिर जानकार वाजे ने अपने हिसाब किताब को कभी ऑनलाइन दर्ज नहीं किया ताकि उस पर किसी को शक ना हो। 

इसे भी पढ़ें: महाराष्ट्र मुद्दे पर संसद में हंगामा, NCT संशोधन विधेयक लोकसभा में पारित

आपको बता दें कि मुकेश अंबानी और उनकी पत्नी नीता अंबानी को यह पत्र टूटी-फूटी अंग्रेजी में लिखी गई थी। पत्र को डराने वाला ट्रेलर कहा गया था और अगली बार पूरे परिवार को उड़ाने की चेतावनी दी गई थी। आपको यह भी जानना जरूरी है कि 2007 के लखन भैया एनकाउंटर केस मामले में भूमिका के लिए पैरोल पर सजायाफ्ता सिपाही शिंदे को बुकी नरेश गौर के साथ गिरफ्तार किया गया था। माना जा रहा है कि जल्द ही एंटीलिया मामले का विवाद सुलझ सकता है। इस केस से जुड़े लगभग कई महत्वपूर्ण सबूत मिल चुके है। सचिन वाजे ने भी अपना गुनाह कबूल कर लिया है। हालांकि एनआईए अब भी इस मामले की सभा तारों की तलाश कर रही है।

इसे भी पढ़ें: फडणवीस का आरोप, देशमुख के बारे में शरद पवार को नहीं दी गई सही जानकारी

सूत्र ने यह भी दावा किया कि एनआईए की टीम ने दक्षिण मुंबई के एक फाइव स्टार होटल का भी दौरा किया है और वहां के सीसीटीवी फुटेज की भी तलाशी ली है जहां वाजे काफी लंबे समय से रह रहा था। एंटीलिया मामले में फिलहाल सचिन बाजे एनआईए की हिरासत में है। सूत्र यह भी दावा कर रहे हैं कि अब तक जो सीसीटीवी फुटेज मिले हैं उसमें वाजे एक बैग के साथ दिखाई दे रहा है। इसके बाद से अधिकारियों का मानना है कि इसमें नगदी हो सकता है। इसके अलावा एटीएस की टीम ने कच्छ के एक व्यापारी को भी पकड़ा है जिसने कथित तौर पर ठाणे के व्यापारी मनसुख हिरन हत्या मामले में गिरफ्तार गौर को 14 सिम कार्ड दिए। गौर ने उससे यह कहते हुए सिमो को खरीदा था कि इसका इस्तेमाल वह आपने व्यवसाय के लिए करेगा। हालांकि उसने सभी सिम शिंदे को दे दिए जो इस मामले में गिरफ्तार है। 

अन्य न्यूज़