आईएसआईएस आतंकियों की मदद पर एनआईए ने 12 लोगों के खिलाफ आरोप-पत्र दायर किया

gg
राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने भारत में आईएसआईएस आतंकवादियों द्वारा अपनी अवैध गतिविधियों के लिए इस्तेमाल किये गए सिम कार्ड को फर्जी तरीके से हासिल कर उन्हें चालू करवाने संबंधी मामले में गिरफ्तार किये गए 12 लोगों के खिलाफ मंगलवार को आरोप पत्र दायर किया।

नयी दिल्ली। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने भारत में आईएसआईएस आतंकवादियों द्वारा अपनी अवैध गतिविधियों के लिए इस्तेमाल किये गए सिम कार्ड को फर्जी तरीके से हासिल कर उन्हें चालू करवाने संबंधी मामले में गिरफ्तार किये गए 12 लोगों के खिलाफ मंगलवार को आरोप पत्र दायर किया। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि आरोपियों पर भारतीय दंड संहिता, शस्त्र अधिनियम, गैरकानूनी गतिविधि (निरोधक) अधिनियम की कड़ी धाराएं लगाई गई हैं।

इसे भी पढ़ें: PAK संघर्षविराम उल्लंघन की आड़ में J&K में आतंकवादियों को भेजने का कर रहा प्रयास: दिलबाग सिंह

अधिकारी ने बताया कि आरोपियों में तमिलनाडु के कांचीपुरम का रहने वाला पचाईयप्पन(37), चेन्नई का रहने वाला ए राजेश (34), सलेम के रहने वाले अनबरासन टी (27), अब्दुल रहिमन (44), लियाकत अली (29), बेंगलुरु के रहने वाले मोहम्मद हनीफ खान (29), इमरान खान (32),मोहम्मद जायद (24), एजाज पाशा (46), हुसैन शरीफ (33), महबूब पाशा (48) और कुड्डालूर का खाजा मोहिदीन (52) शामिल हैं।

इसे भी पढ़ें: श्रीनगर और कुलगाम में सुरक्षा बलों की आतंकवादियों के बीच मुठभेड़, 24 घंटे चार आतंकी ढेर

एनआईए के मुताबिक मुख्य साजिशकर्ता और आईएसआईएस के आतंकी मोहिदीन ने लियाकत अली के साथ मिलकर भारत में आईएसआईएस की गतिविधियां बढ़ाने के लिए साजिश की। एजेंसी ने बताया कि मोहिदीन को फरवरी 2019 में एक हिंदू नेता की हत्या के मामले में जमानत मिली थी, इसके बाद उसने यह साजिश की। जांच एजेंसी के अधिकारियों के मुताबिक उन्होंने सितंबर और दिसंबर 2019 के बीच सलेम में अनबरासन और अब्दुल रहमान के अलावा चेन्नई में पचाईयप्पन और राजेश द्वारा बड़ी संख्या में फर्जी तरीके से सिम कार्ड खरीदे और उन्हें चालू करवाया।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़