नीतीश कुमार ने मधुबनी जिला अंतर्गत जयनगर तटबंध, नरुवार तटबंध का किया निरीक्षण

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 25, 2020   11:39
नीतीश कुमार ने मधुबनी जिला अंतर्गत जयनगर तटबंध, नरुवार तटबंध का किया निरीक्षण

कमला वियर के बराज में परिवर्तित होने से इस कमांड क्षेत्र में 23,788 एकड़ में अतिरिक्त सिंचाई क्षमता सृजित होगी। इससे किसानों को सुनिश्चित सिंचाई सुविधा उपलब्ध हो पायेगी, जिससे इस क्षेत्र के किसानों का आर्थिक विकास तेजी से हो सकेगा। मुख्यमंत्री ने नेपाल सीमा पर स्थित जयनगर में 1.3 किलोमीटर प्वाइंट, 1.4 किलोमीटर प्वाइंट तटबंध के निरीक्षण के दौरान तटबंध को और ऊँचा करने के साथ-साथ तटबंधों की मजबूती के लिए आयरन सीट पायलिंग का निर्देश दिया।

पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मधुबनी जिला अंतर्गत जयनगर तटबंध, कमला वियर प्वाइंट एवं नरुवार तटबंध का निरीक्षण किया। कमला वियर प्वाइंट के निरीक्षण के क्रम में मुख्यमंत्री ने जल संसाधन मंत्री, जल संसाधन विभाग के सचिव एवं जल संसाधन विभाग के वरीय अभियंताओं के साथ विचार-विमर्श के बाद निर्देश दिया कि कमला वियर को बराज में परिवर्तित करने का प्रस्ताव दें। उन्होंने कहा कि कमला वियर के बराज में परिवर्तित होने से सिंचाई क्षमता में भारी वृद्धि होगी एवं इस क्षेत्र के किसानों को सुनिश्चित सिंचाई सुविधा उपलब्ध हो पायेगी। 

कमला वियर के बराज में परिवर्तित होने से इस कमांड क्षेत्र में 23,788 एकड़ में अतिरिक्त सिंचाई क्षमता सृजित होगी। इससे किसानों को सुनिश्चित सिंचाई सुविधा उपलब्ध हो पायेगी, जिससे इस क्षेत्र के किसानों का आर्थिक विकास तेजी से हो सकेगा। मुख्यमंत्री ने नेपाल सीमा पर स्थित जयनगर में 1.3 किलोमीटर प्वाइंट, 1.4 किलोमीटर प्वाइंट तटबंध के निरीक्षण के दौरान तटबंध को और ऊँचा करने के साथ-साथ तटबंधों की मजबूती के लिए आयरन सीट पायलिंग का निर्देश दिया।

इसे भी पढ़ें: नीतीश ने संभावित बाढ़ के पूर्व तैयारियों की उच्चस्तरीय समीक्षा की

उन्होंने कमला बलान नदी के नरुवार तटबंध निर्माण कार्य के अवलोकन के क्रम में कहा कि नरुवार तटबंध में स्टील सीट पायलिंग कराए जाने से तटबंध को मजबूती मिलेगी और अगल-बगल के क्षेत्र को सुरक्षा मिलेगी। मधुबनी के जिलाधिकारी ने मुख्यमंत्री को जानकारी दी कि पिछले वर्ष नरुवार तटबंध के टूटने से बगल के गाँव के मकानों की क्षतिपूर्ति राशि प्रभावित लोगों को दे दी गयी है। मुख्यमंत्री ने तटबंधों की मजबूती का कार्य शीघ्र पूरा करने तथा तटबंधों की सुरक्षा के लिए अधिकारियों एवं अभियंताओं को विशेष सतर्कता बरतने का निर्देश दिया। निरीक्षण के दौरान जल संसाधन मंत्री संजय झा, मुख्य सचिव दीपक कुमार, समेत कई अधिकारी उपस्थित थे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।