नीतीश कुमार ने भागलपुर में 1989 के दंगों का जिक्र किया, कहा- उनकी सरकार ने न्याय सुनिश्चित किया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अक्टूबर 31, 2020   20:19
  • Like
नीतीश कुमार ने भागलपुर में 1989 के दंगों का जिक्र किया, कहा- उनकी सरकार ने न्याय सुनिश्चित किया
Image Source: Google

मुख्यमंत्री ने कहा कि पोशाक योजना और साइकिल योजना के तहत लड़कियों को पढ़ने का मौका मिला और अब तो लड़कों के लिए भी साइकिल योजना की शुरुआत हुई है। सरकारी नौकरी में महिलाओं के लिये आरक्षण की व्यवस्था करने का जिक्र करते हुए कुमार ने कहा कि अब किसी भी सरकारी दफ्तर में चले जाइए, महिलाओं की संख्या काफी बढ़ी है।

भागलपुर/ खगड़िया। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भागलपुर में 1989 में हुए साम्प्रदायिक दंगों में गड़बड़ी करने वालों पर उस समय की सरकार द्वारा कार्रवाई नहीं किये जाने का आरोप लगाया और कहा कि उनकी सरकार बनने के बाद जांच की गई और पीड़ितों के साथ न्याय किया गया। भागलपुर, खगड़िया और सिमड़ी बख्तियारपुर में चुनावी रैलियों को संबोधित करते हुए नीतीश कुमार ने अल्पसंख्यकों को अपनी पार्टी से जोड़ने का प्रयास किया। उन्होंने कहा, ‘‘भागलपुर में 1989 में कितना बड़ा साम्प्रदायिक दंगा हुआ था। लेकिन जो गड़बड़ करने वाले लोग थे उनपर कोई कार्रवाई नही हुई।’’ उन्होंने कहा कि जब हमारी सरकार बनी तब न्याय यात्रा के दौरान इस पर ध्यान दिया और आयोग बनाकर पूरे मामले की जांच करवाई। कुमार ने कहा, ‘‘ जो पीड़ित परिवार थे उनकी हर प्रकार से मदद करने का काम किया क्योंकि न्याय के साथ विकास ही हमारा नारा रहा है।’’

मुख्यमंत्री ने कहा कि दंगे में जान गंवाने वालों के आश्रितों को पहले 2500 रूपये प्रतिमाह देने का काम किया गया और अब उसे बढ़ाकर 5000 रूपये कर दिया गया है। तेजस्वी यादव के 10 लाख नौकरी देने एवं अन्य वादों के परोक्ष संदर्भ में उन्होंने कहा कि इनको कुछ पता नहीं है, काम का कोई अनुभव नहीं है और कुछ भी बोलते रहते हैं। नीतीश ने कहा, ‘‘ कुछ लोगों को सेवा से कोई मतलब नहीं होता है, उनकी सिर्फ मेवा में ही रूचि रहती है। इसलिये इनसे सचेत रहियेगा।’’ कुमार नेकहा कि अभी अनूसुचित जाति/जनजाति, अत्यंत पिछड़ा वर्ग को काम शुरू करने के लिए दस लाख रूपये दिये जाते हैं और आगे काम करने का मौका दीजिएगा तो सबके लिए इस तरह की व्यवस्था करेंगे। इसमें पांच लाख सहायता और पांच लाख ऋण दिया जाता है। महिलाओं के कल्याण के लिये अपनी सरकार के कार्यो का उल्लेख करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा ‘‘ जब हमें काम करने का मौका मिला तब पंचायतों एवं शहरी निकायों में महिलाओं को आरक्षण दिया। इसके अलावा अनुसूचित जाति, जनजाति, पिछड़े वर्गो को आरक्षण दिया। उन्होंने कहा कि अब पंचायतों एवं शहरी निकायों में महिलाओं एवं पिछड़े वर्गो का प्रतिनिधित्व काफी बढ़ गया है।’’ 

इसे भी पढ़ें: महिलाओं, पिछड़े वर्गों की उपेक्षा करने वाले लोगों की बातों से ‘गुमराह’ नहीं हों: नीतीश

मुख्यमंत्री ने कहा कि पोशाक योजना और साइकिल योजना के तहत लड़कियों को पढ़ने का मौका मिला और अब तो लड़कों के लिए भी साइकिल योजना की शुरुआत हुई है। सरकारी नौकरी में महिलाओं के लिये आरक्षण की व्यवस्था करने का जिक्र करते हुए कुमार ने कहा कि अब किसी भी सरकारी दफ्तर में चले जाइए, महिलाओं की संख्या काफी बढ़ी है। कुमार ने कहा, ‘‘ अगर बिहार आगे बढ़ा है, तो उसका सबसे बड़ा कारण महिलाओं की सहभागिता है। महिलाओं को आगे बढ़ाना हमारी प्रतिबद्धता है। ’’ नीतीश कुमार ने महिलाओं को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने के प्रयासों का जिक्र करते हुए कहा कि इसके लिये विश्व बैंक से कर्ज लेकर जीविका समूह का गठन किया गया और आज जीविका समूह का काफी विस्तार हुआ है। उन्होंने रैली में आई महिलाओं से आग्रह किया कि पहले मतदान करें और फिर घर खाना बनायें और घर के लोगों को भी मतदान करने के लिये भेजें। राजद के शासनकाल का उल्लेख करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले न पढ़ाई की व्यवस्था थी, न इलाज का इंतजाम था और न लोगों के आने जाने की सुविधा थी और शाम के बाद लोगों की घर से निकलने की हिम्मत नहीं होती थी।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


जम्मू-कश्मीर में DDC चुनाव के दूसरे चरण के लिए मतदान जारी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 1, 2020   08:41
  • Like
जम्मू-कश्मीर में DDC चुनाव के दूसरे चरण के लिए मतदान जारी
Image Source: Google

डीडीसी के दूसरे चरण के लिए मतदान में शुरुआती सूचना के अनुसार सुबह-सुबह कड़ाके की ठंड के कारण बहुत कम लोग मतदान केन्द्रों पर पहुंचे हैं। उन्होंने कहा कि दिन चढ़ने और तापमान बढ़ने के साथ मतदान में तेजी आने की संभावना है।

श्रीनगर। जम्मू कश्मीर में कड़ाके की ठंड और कड़े सुरक्षा इंतजाम के बीच जिला विकास परिषद (डीडीसी) के दूसरे चरण के लिए मतदान शुरू हो गया है। एक अधिकारी ने बताया, ‘‘मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ। शुरुआती सूचना के अनुसार सुबह-सुबह कड़ाके की ठंड के कारण बहुत कम लोग मतदान केन्द्रों पर पहुंचे हैं। उन्होंने कहा कि दिन चढ़ने और तापमान बढ़ने के साथ मतदान में तेजी आने की संभावना है। डीडीसी के दूसरे चरण के चुनाव के लिए 321 उम्मीदवार मैदान में हैं और इस चरण में पंजीकृत 7.90 लाख मतदाताओं के लिए 2,142 मतदान केन्द्र बनाए गए हैं।

जम्मू-कश्मीर में 280 सीटें हैं जिनमें से दूसरे चरण में 43 पर चुनाव हो रहा है। इनमें से 25 कश्मीर में और 18 जम्मू में हैं।

इसे भी पढ़ें: भाजपा ने कश्मीर के डीडीसी चुनाव के लिए उर्दू में जारी किया चुनाव घोषणा पत्र

केन्द्र शासित प्रदेश में 83 सरपंच पदों के लिए चुनाव हो रहा है जिसके लिए 223 उम्मीदवार मैदान में हैं। इसके अलावा 331 पंच पदों पर उपचुनाव हो रहे हैं जिसके लिए 700 से ज्यादा प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। प्रशासन ने घाटी के सभी 1,300 मतदान केन्द्रों को संवेदनशील घोषित किया है। जम्मू-कश्मीर के निर्वाचन आयुक्त के. के.शर्मा ने सोमवार को कहा, ‘‘सुरक्षा के दृष्टिकोण से कश्मीर के लगभग सभी मतदान केन्द्र संवेदनशील हैं। घाटी के मतदान केन्द्रों पर अतिरिक्त सुरक्षा मुहैया करायी गई है।’’





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


डीके शिवकुमार बोले, कांग्रेस महात्मा गांधी, स्वामी विवेकानंद के हिंदुत्व में रखती है विश्वास

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 1, 2020   08:33
  • Like
डीके शिवकुमार बोले, कांग्रेस महात्मा गांधी, स्वामी विवेकानंद के हिंदुत्व में रखती है विश्वास
Image Source: Google

शिवकुमार ने राज्य में हो रहे बदलाव और संगठन के तौर पर कांग्रेस को मजबूत करने को लेकर सोमवार को पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की बैठक बुलाई थी। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में बूथ एवं पंचायत स्तर पर समितियों का गठन किया जाएगा।

बेंगलुरु। कांग्रेस की कर्नाटक इकाई के अध्यक्ष डीके शिवकुमार ने सोमवार को कहा कि हिंदुत्व किसी एक की संपत्ति नहीं है और कांग्रेस महात्मा गांधी तथा स्वामी विवेकानंद के हिंदुत्व में विश्वास रखती है। अंतर-धार्मिक विवाह और हिंदुत्व की राजनीति के संबंध में पूछे गए एक सवाल पर प्रतिक्रिया देते हुए शिवकुमार ने संवाददाताओं से कहा, ' हमारा हिंदुत्व महात्मा गांधी का, स्वामी विवेकानंद का हिंदुत्व है। हिंदुत्व किसी एक की संपत्ति नहीं है। भारत की परंपरा, संस्कृति ही संपदा है जो हम सभी से संबंधित है। हम (कांग्रेस) अपने संविधान के अनुसार प्रत्येक व्यक्ति के हितों की सुरक्षा करेंगे।'

इसे भी पढ़ें: तृणमूल कांग्रेस में अंसतोष के स्वर मुखर! भाजपा सांसद ने ममता को इस खतरे से चेताया

शिवकुमार ने राज्य में हो रहे बदलाव और संगठन के तौर पर कांग्रेस को मजबूत करने को लेकर सोमवार को पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की बैठक बुलाई थी। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में बूथ एवं पंचायत स्तर पर समितियों का गठन किया जाएगा।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण के 1324 नए मामले, 18 लोगों की मौत

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 1, 2020   08:29
  • Like
छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण के 1324 नए मामले, 18 लोगों की मौत
Image Source: Google

स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि राज्य में सोमवार को 153 लोगों को संक्रमण मुक्त होने के बाद अस्पतालों से छुट्टी दी गई है, वहीं 1586 लोगों ने गृह-पृथकवास पूरा किया है ।

रायपुर। छत्तीसगढ़ में पिछले 24 घंटों के दौरान 1324 नए लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई है और राज्य में इस वायरस से संक्रमित हुए लोगों की संख्या 2,37,322 हो गई है। स्वास्थ्य विभाग ने इसकी जानकारी दी । स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि राज्य में सोमवार को 153 लोगों को संक्रमण मुक्त होने के बाद अस्पतालों से छुट्टी दी गई है, वहीं 1586 लोगों ने गृह-पृथकवास पूरा किया है । राज्य में कोरोना वायरस संक्रमित 18 लोगों की मौत हुई है। विभाग के अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि आज संक्रमण के 1324 मामले आए हैं। इनमें रायपुर जिले से 186, दुर्ग से 169, राजनांदगांव से 73, बालोद से 74, बेमेतरा से 26, कबीरधाम से 28, धमतरी से 33, बलौदाबाजार से 57, महासमुंद से 35, गरियाबंद से 23, बिलासपुर से 103, रायगढ़ से 104, कोरबा से 63, जांजगीर—चांपा से 118, मुंगेली से 14, गौरेला—पेंड्रा—मरवाही से चार, सरगुजा से 30, कोरिया से 21, सूरजपुर से 47, बलरामपुर से 32, जशपुर से आठ, बस्तर से 12, कोंडागांव से 19, दंतेवाड़ा से 18, सुकमा से तीन, कांकेर से 19, नारायणपुर से एक, बीजापुर से दो तथा अन्य राज्य से दो मरीज शामिल हैं।

इसे भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण के 1,879 नए मामले, संक्रमितों की तादाद 2 लाख 32 हजार के पार

अधिकारियों ने बताया कि छत्तीसगढ़ में अब तक 2,37,322 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है जिसमें से 2,14,826 मरीज इलाज के बाद संक्रमण मुक्त हुए हैं, राज्य में 19,635 मरीज उपचाराधीन हैं। राज्य में वायरस से संक्रमित 2861 लोगों की मौत हुई है। राज्य के रायपुर जिले में सबसे अधिक 46,526 लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि की गई है। जिले में कोरोना वायरस संक्रमित 656 लोगों की मौत हुई है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।