तमिलनाडु में अब तक ओमीक्रोन स्वरूप की पुष्टि नहीं : सरकार

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 6, 2021   08:31
तमिलनाडु में अब तक ओमीक्रोन स्वरूप की पुष्टि नहीं : सरकार

इस बीच तमिलनाडु में रविवावर को 724 लोग संक्रमित पाये गये जिसके बाद राज्य में संक्रमितों की संख्या बढ़ कर 27,30,516 हो गयी है जबकि दस और लोगों की मौत के साथ ही मरने वालों की संख्या36,529 पर पहुंच गयी है।

चेन्नई|  तमिलनाडु में कोरोना वायरस संक्रमण के ओमीक्रोन स्वरूप का कोई मामला सामने नहीं आया है और सिंगापुर तथा ब्रिटेन से आये पांच यात्री कोविड संक्रमित पाये गये थे उनके ‘डेल्टा’ स्वरूप से संक्रमित होने का संदेह था। प्रदेश के मंत्री मा सुब्रमण्यम ने रविवार को इसकी जानकारी दी।

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री ने कहा कि उच्च जोखिम वाले देशों से आये पांच यात्री में कोई लक्षण नहीं पाया गया और पांचों यहां के एक अस्पताल में हैं और ‘ठीक’ हैं। उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि प्राथमिक सूचना के अनुसार पांच यात्रियों में से एक की रिपोर्ट निगेटिव है और प्रदेश में ओमीक्रोन स्वरूप से कोई भी संक्रमित नहीं पाया गया है।

स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव जे राधाकृष्णन ने कहा कि कोरोना संक्रमित पाये गये पांच लोगों के ओमीक्रोन से संक्रमित पाये जाने की संभावना ‘कम’ है और उनके नमूने जीनोम सिक्वेंसिंग के लिये भेजे गये हैं। उन्होंने बताया कि ओडिशा की 21 साल की कोविड संक्रमित एक लड़की को किंग इंस्टीच्यूट में भर्ती कराया गया है।

ओमीक्रोन स्वरूप से संक्रमण की आशंकाओं को दूर करते हुये अधिकारी ने लोगों से नहीं घबराने और सोशल मीडिया में गलत जानकारी नहीं फैलाने की अपील की। उन्होंने कहा कि टीकाकरण एवं फेस मास्क पहनना ही महामारी से बचाव का एकमात्र तरीका है।

इस बीच तमिलनाडु में रविवावर को 724 लोग संक्रमित पाये गये जिसके बाद राज्य में संक्रमितों की संख्या बढ़ कर 27,30,516 हो गयी है जबकि दस और लोगों की मौत के साथ ही मरने वालों की संख्या36,529 पर पहुंच गयी है।

बुलेटिन में कहा गया है कि राज्य में 743 लोग पिछले 24 घंटे में ठीक हुये हैं जिसके बाद संक्रमण मुक्त होने वाले लोगों की तादाद बढ़ कर राज्य में 26,85,946 हो गयी है और प्रदेश में 8,041लोग उपचाराधीन हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।