तमिलनाडु में हिंदी भाषा विवाद पर बोले विदेश मंत्री, कहा- कोई भी भाषा थोपी नहीं जाएगी

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jun 3 2019 10:02AM
तमिलनाडु में हिंदी भाषा विवाद पर बोले विदेश मंत्री, कहा- कोई भी भाषा थोपी नहीं जाएगी
Image Source: Google

जयशंकर ने ट्वीट किया, ‘‘एचआरडी मंत्री को सौंपी गई राष्ट्रीय शिक्षा नीति महज एक मसौदा रिपोर्ट है। आम जनता से प्रतिक्रिया ली जाएगी। राज्य सरकारों से परामर्श किया जाएगा।

नयी दिल्ली। गैर हिंदी भाषी राज्यों में हिंदी पढ़ाने का प्रस्ताव देने वाली शिक्षा नीति के मसौदे पर तमिलनाडु में आक्रोश को लेकर विदेश मंत्री एस जयशंकर ने रविवार को कहा कि इस मुद्दे पर अंतिम फैसला लिए जाने से पहले राज्य सरकारों से परामर्श लिया जाएगा। जयशंकर की प्रतिक्रिया इस मुद्दे पर टि्वटर यूजर के एक सवाल के जवाब में आयी है।

इसे भी पढ़ें: जाने-माने उद्योगपति ब्रज मोहन खेतान का निधन, ममता बनर्जी ने संवेदना व्यक्त की

जयशंकर ने ट्वीट किया, ‘‘एचआरडी मंत्री को सौंपी गई राष्ट्रीय शिक्षा नीति महज एक मसौदा रिपोर्ट है। आम जनता से प्रतिक्रिया ली जाएगी। राज्य सरकारों से परामर्श किया जाएगा। इसके बाद ही इस मसौदा रिपोर्ट को अंतिम रूप दिया जाएगा। भारत सरकार सभी भाषाओं का सम्मान करती है। कोई भाषा थोपी नहीं जाएगी।’’

इसे भी पढ़ें: ‘जय श्री राम’ के नारे को लेकर ममता बनर्जी ने एक बार फिर खोया अपना आपा

पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के नक्श-ए-कदम पर चलते हुए जयशंकर ने रविवार को टि्वटर पर कई सवालों और विदेश में रह रहे कई भारतीयों की मदद की अपीलों का जवाब दिया।


रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप