किसी को भी संगठित अपराध करने की इजाजत नहीं दी जाएगी: बृजेश पाठक

brajesh pathak
ANI
पाठक ने संवाददाताओं से बातचीत में अंसारी बंधुओं के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय की कार्रवाई के बारे में पूछे जाने पर कहा, हमारी सरकार देश में कानून का राज स्थापित करने के लिए कृत संकल्पित है। संगठित अपराध करने की इजाजत नहीं दी जाएगी।
लखनऊ। माफिया-राजनेता मुख्तार अंसारी और उनके सांसद भाई अफजाल अंसारी के परिसरों पर प्रवर्तन निदेशालय(ईडी) की छापेमारी की कार्रवाई के बीच उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री बृजेश पाठक ने बृहस्पतिवार को कहा कि किसी को भी संगठित अपराध करने की इजाजत नहीं दी जाएगी। पाठक ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश में कानून का राज स्थापित करने के लिए कृत संकल्पित है। पाठक ने संवाददाताओं से बातचीत में अंसारी बंधुओं के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय की कार्रवाई के बारे में पूछे जाने पर कहा, हमारी सरकार देश में कानून का राज स्थापित करने के लिए कृत संकल्पित है। संगठित अपराध करने की इजाजत नहीं दी जाएगी। हमने ऐसे तत्वों के खिलाफ कार्रवाई के लिए अपनी एजेंसियों और बलों को खुली छूट दे रखी है। 

इसे भी पढ़ें: भाजपा से खुश नहीं हैं सहयोगी दल, अखिलेश बोले- अगले चुनाव में बनेगा भगवा पार्टी के खिलाफ मजबूत विकल्‍प

मऊ से पांच बार विधायक रह चुके मुख्तार अंसारी विभिन्न आपराधिक मामलों में इस वक्त उत्तर प्रदेश की बांदा जेल में बंद है। उसके पुत्र अब्बास अंसारी इस वक्त मऊ सीट से सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के विधायक हैं। सुभासपा के नेता अरुण राजभर ने प्रवर्तन निदेशालय की इस कार्यवाही के बारे में पूछे जाने पर कहा निदेशालय अपना काम कर रहा है और सरकार अपना। निदेशालय मालदार लोगों के खिलाफ छापेमारी कर रहा है। जनता देखेगी कि किसके पास कितना माल है। जो लोग गलत नहीं है, वह पाक साफ होकर सामने आ जाएंगे और जिन्होंने कुछ गलत किया है वे निश्चित रूप से चिल्लाएंगे। 

इसे भी पढ़ें: सुपरटेक एमरल्ड कोर्ट में आवासीय भूखंड पर अवैध निर्माण को फायर एनओसी के मामले में तीन अधिकारियों के खिलाफ प्राथमिकी

कांग्रेस नेता दीपक सिंह ने कहा कि प्रवर्तन निदेशालय और सीबीआई भाजपा के संगठन के रूप में काम कर रहे हैं और भाजपा जो कहती है यह दोनों वही काम करते हैं। गौरतलब है कि प्रवर्तन निदेशालय ने बाहुबली नेता मुख्तार अंसारी, उसके भाई और गाजीपुर से सांसद अफजाल अंसारी तथा उसके अन्‍य करीबियों के 11 ठिकानों पर दिल्ली, लखनऊ और गाजीपुर सहित कई शहरों में छापेमारी की। निदेशालय के अफसरों ने दिल्ली, लखनऊ, गाजीपुर और मऊ के अलावा मुख्तार के मुहम्मदाबाद स्थित उसके घर पर भी छापेमारी की है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़