राज्यसभा में नागरिकता विधेयक पारित न होना असम के लिए हार: सरमा

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Feb 13 2019 8:06PM
राज्यसभा में नागरिकता विधेयक पारित न होना असम के लिए हार: सरमा
Image Source: Google

असम के वित्त मंत्री हिमंत विश्व सरमा ने कहा कि पार्टी विधेयक को लेकर पूरी तरह प्रतिबद्ध है और इसी संकल्प के साथ पार्टी चुनाव लड़ेगी।

दुधनोई। असम के वित्त मंत्री हिमंत विश्व सरमा ने बुधवार को कहा कि राज्यसभा में नागरिकता (संशोधन) विधेयक का पारित नहीं होना असम के लिए हार है। उन्होंने कहा कि पार्टी विधेयक को लेकर पूरी तरह प्रतिबद्ध है और इसी संकल्प के साथ पार्टी चुनाव लड़ेगी। भाजपा के वरिष्ठ नेता सरमा ने दावा किया कि इसके बिना राज्य की 17 विधानसभा सीटों पर बांग्लादेशी मुसलमानों का कब्जा हो जाएगा। न्यू राभा हासोंग स्वायत्त परिषद के शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा लेने के बाद उन्होंने कहा कि राजग के पास राज्यसभा में बहुमत नहीं है, इसलिए वह विधेयक पेश नहीं कर सका। उन्होंने कहा कि भाजपा के नेतृत्व वाले गठबंधन को बहुमत मिलते ही इस विधेयक को फिर से लाया जाएगा।

इसे भी पढ़ें: नागरिकता विधेयक और तीन तलाक संबंधी विधेयक हो जाएंगे निष्प्रभावी

पूर्वोत्तर लोकतांत्रिक गठबंधन (एनईडीए) के संयोजक सरमा ने कहा, ‘मेरी पार्टी विधेयक का समर्थन करती है। भाजपा इसके लिए प्रतिबद्ध है और सदैव प्रतिबद्ध रहेगी। भाजपा इसी प्रतिबद्धता के साथ (चुनाव) लड़ेगी। इसमें छिपाने लायक कुछ नहीं है।’ उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘मेरा मानना है कि राज्यसभा में नागरिकता विधेयक का पारित न होना असम के लिए हार है। विधेयक के बिना राज्य की 17 विधानसभा सीटों पर बांग्लादेशी मुसलमानों का कब्जा हो जाएगा।’ सरमा ने कहा कि (असमिया) समुदाय की रक्षा कौन करेगाा अगर हमारे पास विधेयक नहीं होगा तो 2021 में समूचे असम में बांग्लादेशी मुसलमानों का शासन होगा। असम की सभ्यता, संस्कृति, भाषा हमेशा के लिए खत्म हो जाएगी।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video