अब यात्रा करने वालों को कोविन एप पर मिलने जा रही नई सुविधा, सर्टिफिकेट के साथ होगी ये जानकारी

अब यात्रा करने वालों को कोविन एप पर मिलने जा रही नई सुविधा, सर्टिफिकेट के साथ होगी ये जानकारी

पिछले 2 सालों से कोरोना संक्रमण ने पूरे विश्व को अपने घेरे में ले रखा है जिसका कहर भारत में अब भी जारी है। लगातार हर दिन नए केस पाए जाते हैं जिनकी गिनती हजारों में है।

पिछले 2 सालों से कोरोना संक्रमण ने पूरे विश्व को अपने घेरे में ले रखा है जिसका कहर भारत में अब भी जारी है। लगातार हर दिन नए केस पाए जाते हैं जिनकी गिनती हजारों में है। जो लोग यात्रा करने व घूमने के शौकीन है इस महामारी की वजह से वह काफी परेशान हुए होंगे। बहुत से लोग विदेश की यात्रा करना चाहते हैं।

उन यात्रियों के लिए अब खुशखबरी है की जो टीकाकरण का दोनो खुराक ले चुके हैं उन्हें विदेश यात्रा करने की अनुमति दी जाएगी। यह बात सामने निकलकर आ रही है कि कोविन एप पर वैक्सीन सर्टिफिकेट के साथ साथ जन्मतिथि की सुविधा भी उपलब्ध कराई जाएगी। उससे पहले जन्म के वर्ष के आधार पर यह सर्टिफिकेट दिया जाता था।

इसे भी पढ़ें: PM मोदी पर कांग्रेस का वार, कहा- काश, प्रधानमंत्री ने कोरोना की दूसरी लहर के दौरान अस्पताल का दौरा किया होता

अगले हफ्ते से यह सुविधा कोविन एप पर जारी की जाएगी। सूत्रों से पता चला है कि जिन लोगों का टीकाकरण पूर्ण रूप से हो चुका है और वह विदेश यात्रा करना चाहते हैं तो उनकी जन्मतिथि को टीकाकरण प्रमाणपत्र पर दर्ज किया जाएगा।

यात्रा के लिए कुछ नियमों का करना होगा पालन

अगर आप विदेश की यात्रा करना चाहते हैं तो आपके वैक्सीन सर्टिफिकेट में आपका नाम,सरनेम, वैक्सीन का नाम,निर्माता और जन्मतिथि, दोनो टीकाकरण की खुराक की तारीख, यह सभी प्रमाणपत्र में शामिल होना चाहिए।

अगर इसमें से एक भी दस्तावेज नहीं होगा तो शायद विदेश यात्रा से आपको वंचित होना पड़ सकता है। यह कागज़ात विदेश यात्रा के लिए बहुत आवश्यक हैं।

इसे भी पढ़ें: देश में 191 दिन में कोविड-19 के सबसे कम उपचाराधीन मरीज

फिलहाल कोविन वैक्सीन सर्टिफिकेट में आपका नाम,लिंग,आयु,टीकाकरण केंद्र, आईडी,दोनो खुराक की तिथि और शहर का नाम शामिल होना चाहिए। आपके लिए अब विदेश यात्रा आरामदायक हो सकती है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।