1 सितंबर से JEE मुख्य परीक्षा कराने को एनटीए तैयार, शिक्षा मंत्री ने की राज्यों से सहयोग की अपील

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 31, 2020   19:15
1 सितंबर से JEE मुख्य परीक्षा कराने को एनटीए तैयार, शिक्षा मंत्री ने की राज्यों से सहयोग की अपील

इंजीनियरिंग की प्रवेश परीक्षा जेईई मेन एक सितंबर से शुरू होने जा रही है। परीक्षा के लिए पुख्ता तैयारियां की गई हैं। केन्द्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्रियों से परीक्षार्थियों की मदद करने की अपील की है।

नयी दिल्ली। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनटीए) मंगलवार से इंजीनियरिंग कॉलेजों में प्रवेश के लिये जेईई-मुख्य परीक्षा आयोजित कराने के लिये पूरी तरह तैयार है। कोविड-19 के तहत परीक्षा केन्द्रों में शारीरिक दूरी सुनिश्चित करने के लिये व्यापक इंतजाम किये गए हैं। ओडिशा, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ ने छात्रों को परिवहन के साधन मुहैया कराने का आश्वासन दिया है। इसके अलावा आईआईटी के पूर्व छात्रों के एक समूह ने जरूरतमंद छात्रों को परीक्षा केन्द्र पहुंचने के लिये परिवहन के साधन मुहैया कराने के वास्ते एक पोर्टल लांच किया है। केन्द्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्रियों से परीक्षार्थियों की मदद करने की अपील की है। 

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में JEE और NEET परीक्षा में शामिल होने के लिए नि:शुल्क परिवहन सुविधा

कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर जेईई-मुख्य और मेडिकल में प्रवेश के लिये ली जाने वाली नीट की परीक्षा टलने के आसार नजर आ रहे थे। जेईई की परीक्षाएं 1 से 6 सितंबर जबकि नीट की परीक्षा 13 सितंबर को होनी हैं। संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई)-मुख्य के लिये 8.58 लाख जबकि नीट के लिये 15.97 लाख छात्रों ने पंजीकरण कराया है। शिक्षा मंत्री निशंक ने कहा, मैं सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से इन अभूतपूर्व परिस्थितियों में हमारे छात्रों को सहयोग देने और पर्याप्त इंतजाम करने की अपील करता हूं ताकि आवेदकों को किसी असुविधा का सामना न करना पड़े। मैं छात्रों से भी परीक्षा करा रही एजेंसी पर विश्वास करने की अपील करता हूं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।