• रक्षा मंत्रालय के 27 कार्यालयों को नए भवनों में स्थानांतरित किया जाएगा

अधिकारियों अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा बृहस्पतिवार को दो कार्यालय परिसरों का उद्घाटन करने की संभावना है। उन्होंने कहा कि दो नयी बहुमंजिला इमारतें रक्षा मंत्रालय द्वारा 775 करोड़ रुपये की लागत से बनाई गई है।

रक्षा मंत्रालय के 27 विभिन्न कार्यालयों और तीनों सेवाओं के 7,000 से अधिक कर्मचारी रायसीना हिल क्षेत्र और उसके आसपास के अपने मौजूदा कार्यस्थलों से दो नयी इमारतों में चले जाएंगे। अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी।

अधिकारियों ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा बृहस्पतिवार को दो कार्यालय परिसरों का उद्घाटन करने की संभावना है। उन्होंने कहा कि दो नयी बहुमंजिला इमारतें रक्षा मंत्रालय द्वारा 775 करोड़ रुपये की लागत से बनाई गई है।

इसमें एक इमारत कस्तूरबा गांधी मार्ग इलाके में और दूसरी इमारत अफ्रीका एवेन्यू में हैं। उन्होंने कहा कि दोनों इमारतों में कुल 9.60 लाख वर्ग फुट जगह है। अधिकारियों ने कहा कि चौदह कार्यालयों को कस्तूरबा गांधी मार्ग परिसर में स्थानांतरित किया जा रहा है, जिसका निर्माण क्षेत्र 4.52 लाख वर्ग फुट है। वहीं, 13 कार्यालयों को अफ्रीका एवेन्यू भवन में स्थानांतरित किया जा रहा है, जिसका कुल निर्माण क्षेत्र 5.08 लाख वर्ग फुट है।

उन्होंने कहा कि मौजूदा कार्यालयों को स्थानांतरित करने की प्रक्रिया अगले कुछ दिनों में शुरू होगी। अधिकारियों ने कहा कि सेंट्रल विस्टा परियोजना के तहत आवास और शहरी विकास मंत्रालय द्वारा निर्मित नयी इमारतें आधुनिक, पर्यावरण के अनुकूल, हरित माहौल प्रदान करती हैं। 

 एक अधिकारी ने कहा, ‘‘इन इमारतों के स्थान को इस तरह से डिजाइन किया गया है कि पहले से मौजूद पेड़ों को कोई नुकसान न पहुंचे।’’ अधिकारियों ने कहा कि दो भवनों में 27 कार्यालय होने से अधिक दक्षता, समन्वय और कार्य का माहौल सुनिश्चित होगा।

कार्यालय की जगह के अलावा, दो भवनों में कुल 1500 से अधिक कारों के लिए बहु-स्तरीय कार पार्किंग की व्यवस्था है। रक्षा मंत्रालय ने विभिन्न कार्यालयों, स्थान के आवंटन और सामान्य सुविधाओं की विभिन्न जरूरतों के समन्वय के लिए संयुक्त सचिव के तहत एक संयुक्त समन्वय समिति का गठन किया था।