सरकार की मंशा पर पानी फेर रहे अधिकारी: शरद शर्मा

सरकार की मंशा पर पानी फेर रहे अधिकारी: शरद शर्मा
प्रतिरूप फोटो

अयोध्या के कारसेवक पुरम में 30 वर्षों संचालित श्रीराम गौशाला के वार्षिक अनुदान के लिए अधिकारी ने कहा फुर्सत नहीं। श्रीराम गौशाला समिति के सह प्रबंधक शरद शर्मा ने कहा कि यह स्थिति जब इस गौशाला की है। तो अन्य के साथ क्या हो रहा होगा?

अयोध्या। कारसेवक पुरम में संचालित होने वाली श्रीराम गौशाला के वार्षिक अनुदान की फाइल पर हस्ताक्षर करने की फुर्सत नहीं है। एसडीएम सदर प्रशांत कुमार पर यह आरोप श्रीराम गौशाला समिति के सह प्रबंधक शरद शर्मा ने लगाते हुए कहा कि यह स्थिति जब इस गौशाला की है। तो अन्य के साथ क्या हो रहा होगा? उन्होंने इसकी जानकारी प्रदेश के मुख्यमंत्री तथा उपमुख्यमंत्री सहित जिलाधिकारी अयोध्या को भी दिया है।

इसे भी पढ़ें: अयोध्या में मुसलमानों ने वसीम रिजवी की मोहम्मद पुस्तक के विरोध में किया प्रदर्शन 

उन्होंने कहा श्रीराम गौशाला विगत 30 वर्षों से संचालित है जिसके पूर्व में अध्यक्ष स्वर्गीय अशोक सिंघल रहे हैं तथा वर्तमान में श्री राम जन्म तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट सचिव चंपत राय तथा उपाध्यक्ष अयोध्या सांसद लल्लू सिंह विहिप संरक्षक  प्रबंधक पुरूषोत्तम नारायण सिंह हैं। शरद शर्मा ने बताया की मेरी स्वयं एसडीएम सदर से दूरभाष पर हुई वार्ता के उपरांत श्रीराम गौशाला के सेवकों को वार्षिक अनुदान राशि प्राप्त करने हेतु "गौ सेवा" आयोग को भेजी जाने वाली फाइल पर हस्ताक्षर करने के लिए भेजा गया लेकिन एसडीएम सदर ने गौ सेवकों को यह कहकर लौटा दिया कि मेरे पास फुर्सत नहीं है। उन्हों ने कहा की एक चर्चित और सक्रिय गौशाला के साथ जब एक प्रशासनिक अधिकारी का ऐसा बर्ताव है। तो अन्य गौशालाओं के साथ कैसा व्यवहार किया जाता होगा यह प्रश्नचिन्ह खड़ा करता है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।