महिलाओं के लिए बिल्कुल भी सुरक्षित नहीं है राजस्थान, बलात्कार के सबसे अधिक मामले यहां किए गए दर्ज

rape
Prabhsakshi
एनसीआरबी रिपोर्ट के अनुसार, भारत में 2021 में रोजाना औसतन 86 बलात्कार के मामले दर्ज हुए है।2021 में राजस्थान में दुष्कर्म के सबसे अधिक 6,337 मामले दर्ज किए, जिसके बाद मध्य प्रदेश में 2,947, महाराष्ट्र में 2,496, उत्तर प्रदेश में 2,845, दिल्ली में 1,250 बलात्कार के मामले दर्ज किए गए।

नयी दिल्ली। राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) की नई रिपोर्ट के अनुसार भारत में 2021 में बलात्कार के कुल 31,677 मामले, यानी रोजाना औसतन 86 ममले दर्ज किए गए। वहीं उस साल महिलाओं के खिलाफ अपराध के करीब 49 मामले प्रति घंटे दर्ज किए गए। गृह मंत्रालय के तहत काम करने वाले एनसीआरबी की ‘क्राइम इन इंडिया 2021’ रिपोर्ट के अनुसार, 2020 में बलात्कार के 28,046 मामले, जबकि 2019 में 32,033 मामले दर्ज किए गए थे। 2021 में राजस्थान में दुष्कर्म के सबसे अधिक 6,337 मामले दर्ज किए, जिसके बाद मध्य प्रदेश में 2,947, महाराष्ट्र में 2,496, उत्तर प्रदेश में 2,845, दिल्ली में 1,250 बलात्कार के मामले दर्ज किए गए। रिपोर्ट के अनुसार, 2021 में देश भर में ‘‘महिलाओं के खिलाफ अपराध’’ के कुल 4,28,278 मामले दर्ज किए गए, जिनमें अपराध की दर (प्रति एक लाख आबादी पर) 64.5 प्रतिशत थी।

इसे भी पढ़ें: शुभेंदु अधिकारी को कोर्ट में लगा झटका, कुणाल के मानहानि के मामले में होना होगा पेश

ऐसे अपराधों में 77.1 प्रतिशत मामलों में आरोपपत्र दाखिल किए गए। आंकड़ों के अनुसार, देशभर में 2020 में ‘‘महिलाओं के खिलाफ अपराध’’ के 3,71,503 मामले और 2019 में 4,05,326 मामले दर्ज किए गए थे। एनसीआरबी के अनुसार, 2021 में ‘‘महिलाओं के खिलाफ अपराध’’ के सबसे अधिक 56,083 मामले उत्तर प्रदेश में दर्ज किए गए। इसके बाद, राजस्थान में 40,738, महाराष्ट्र में 39,526, पश्चिम बंगाल में 35,884 और ओडिशा में 31,352 मामले दर्ज किए गए।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़