चीन के दावे पर भारत ने कहा- पूर्वी लद्दाख से सैनिकों के पीछे हटने की प्रक्रिया अभी पूरी नहीं हुई

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 30, 2020   20:33
चीन के दावे पर भारत ने कहा- पूर्वी लद्दाख से सैनिकों के पीछे हटने की प्रक्रिया अभी पूरी नहीं हुई

दो दिन पहले ही आई कुछ खबरों में चीन ने कथित तौर पर दावा किया था कि अग्रिम मोर्चे से दोनों देशों के सैनिकों के पीछे हटने की कवायद सीमा पर अधिकतर स्थानों पर पूरी हो गई है। चीन ने यह भी कहा था कि जमीन पर हालात सामान्य हो रहे हैं।

नयी दिल्ली। भारत ने बृहस्पतिवार को कहा कि पूर्वी लद्दाख से सैनिकों के पीछे हटने की प्रक्रिया अभी पूरी नहीं हुई है, हालांकि इसमें कुछ प्रगति हुई है। उल्लेखनीय है कि दो दिन पहले ही आई कुछ खबरों में चीन ने कथित तौर पर दावा किया था कि अग्रिम मोर्चे से दोनों देशों के सैनिकों के पीछे हटने की कवायद सीमा पर अधिकतर स्थानों पर पूरी हो गई है। चीन ने यह भी कहा था कि जमीन पर हालात सामान्य हो रहे हैं।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने चीनी दावे के बारे में पूछे गए सवालों के जवाब में ऑनलाइन माध्यम से संवाददाताओं से कहा, ‘‘इस उद्देश्य की दिशा में कुछ प्रगति हुई है लेकिन पीछे हटने की प्रक्रिया अभी पूरी नहीं हुई है।’’ उन्होंने कहा कि दोनों सेनाओं के वरिष्ठ कमांडर ‘‘निकट भविष्य’’ में बैठक करेंगे ताकि पीछे हटने की प्रक्रिया को पूरा करने की दिशा में उठाये जाने वाले कदमों पर चर्चा की जा सके। श्रीवास्तव ने कहा, ‘‘जैसा कि हमने पहले ही कहा कि सीमावर्ती क्षेत्रों में शांति बनाये रखना हमारे द्विपक्षीय संबंधों का आधार है।’’ 

इसे भी पढ़ें: डोनाल्ड ट्रंप ने भारत, चीन और रूस पर लगाया आरोप, कहा- ये तीनों देश नहीं रखते अपनी वायु गुणवत्ता का ध्यान

उन्होंने कहा ‘‘ इसलिये हम उम्मीद करते हैं कि चीनी पक्ष यथाशीघ्र पूरी तरह से पीछे हटने, तनाव कम करने तथा सीमावर्ती क्षेत्र में पूरी तरह से शांति बहाल करने के लिये हमारे साथ गंभीरता से काम करेगा जिस पर हमारे विशेष प्रतिनिधियों के बीच सहमति बनी थी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।