• LoC पर PAK की नापाक साजिश नाकाम, उरी में पकड़ा गया लश्कर का आतंकवादी, 7 दिनों में 7 आतंकी ढेर

प्राप्त जानकारी के मुताबिक एलओसी के पास पकड़ा गया आतंकवादी लश्कर-ए-तैयबा का बताया जा रहा है। एक अधिकारी ने बताया कि जम्मू-कश्मीर के उरी में सेना के ऑपरेशन में एक आतंकवादी को ढेर कर दिया गया। जबकि दूसरे आतंकवादी को जिंदा पकड़ लिया गया है।

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के उरी सेक्टर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पास में भारतीय सेना ने एक बार फिर से पाकिस्तानी आतंकवादी को जिंदा पकड़ा है। दरअसल, पाकिस्तान की तरफ से लगातार भारत में घुसपैठ की कोशिशें होती रहती हैं। ऐसे में भारतीय सेना अलर्ट पर है और लगातार घुसपैठियों की नापाक साजिश को नाकाम करने के लिए तत्पर रहती है। 

इसे भी पढ़ें: जम्मू से टीआरएफ का आतंकवादी गिरफ्तार, आतंकी हमले की साजिश विफल हुई 

प्राप्त जानकारी के मुताबिक एलओसी के पास पकड़ा गया आतंकवादी लश्कर-ए-तैयबा का बताया जा रहा है। एक अधिकारी ने बताया कि जम्मू-कश्मीर के उरी में सेना के ऑपरेशन में एक आतंकवादी को ढेर कर दिया गया। जबकि दूसरे आतंकवादी को जिंदा पकड़ लिया गया है।

19 साल का आतंकी पकड़ा गया 

सेना के एक अधिकारी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर जानकारी दी कि उरी सेक्टर में पकड़े गए आतंकवादी के पास से हथियार और गोला बारूद बरामद किया गया है। जिसमें एक एके-47 राइफल, 2 ग्रेनेड, एक रेडियो सेट शामिल है। पकड़े गए आतंकवादी की पहचान अली बाबर के रूप में हुई है। जिसकी उम्र 19 साल बताई जा रही है।

 पूछताछ में अली बाबर ने बताया कि वो हथियार की सप्लाई करने के लिए यहां आया था।  

इसे भी पढ़ें: घाटी समेत भारत को दहलाने की फिराक में हैं आतंकवादी, खुफिया एजेंसियों ने जारी किया अलर्ट 

10 दिनों से चल रहा था ऑपरेशन 

सेना के अधिकारी ने जानकारी दी कि घुसपैठ की कोशिश 26 सिंतबर को हुई थी। जिसमें एक आतंकवादी ढेर कर दिया गया था तथा दूसरे को जिंदा पकड़ा गया था। इस दौरान 3 जवान भी जख्मी हो गए थे। आपको बता दें कि घुसपैठ की घटना को रोकने के लिए पिछले 10 दिनों से भारतीय सेना ऑपरेशन चला रही थी। 

अधिकारी के मुताबिक पिछले 7 दिनों में 7 आतंकवादी मारे गए हैं। आतंकवादी के कब्जे से अलग-अलग तरह के 80 ग्रेनेड बरामद हुए हैं।

3 आतंकी हुए थे ढेर 

इससे पहले 23 सिंतबर को भारतीय सेना ने जम्मू-कश्मीर के बारामूला जिले के उरी में एलओसी के पास घुसपैठ की एक कोशिश को नाकाम कर दिया था। जिसमें तीन आतंकवादी मारे गए थे और उनके पास से हथियारों तथा गोला-बारूद का जखीरा बरामद हुआ था।