UP के 7 जिलों में कोरोना के महज 8 मामले आए सामने, पिछले 24 घंटे में 2 लाख सैम्पल की हुई जांच

UP के 7 जिलों में कोरोना के महज 8 मामले आए सामने, पिछले 24 घंटे में 2 लाख सैम्पल की हुई जांच

अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि कोविड वैक्सीनेशन का कार्य निरन्तर किया जा रहा है। प्रदेश के 02 करोड़ से अधिक लोगों ने वैक्सीन की दोनों डोज प्राप्त कर ली है।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार में अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश के 33 जनपदों में एक भी एक्टिव केस नहीं है, जबकि 20 जिलों में एक-एक एक्टिव केस हैं। विगत 24 घंटे में 2,00,294 सैम्पल की टेस्टिंग की गयी है। 68 जिलों में संक्रमण का एक भी नया केस नहीं पाया गया। 07 जिलों में मात्र 08 नए संक्रमित मरीज पाए गए। इसी अवधि में 23 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए। वर्तमान में प्रदेश में एक्टिव कोविड केस की संख्या 159 रह गई है, जबकि 16,86,749 लोग कोरोना संक्रमण से मुक्त होकर स्वस्थ हो चुके हैं। 

इसे भी पढ़ें: सपा, बसपा और कांग्रेस पर बरसे योगी आदित्यनाथ, कहा- विकास उन सब का एजेंडा नहीं 

प्रसाद ने बताया कि कोविड वैक्सीनेशन का कार्य निरन्तर किया जा रहा है। प्रदेश के 02 करोड़ से अधिक लोगों ने वैक्सीन की दोनों डोज प्राप्त कर ली है। प्रदेश में कल तक पहली डोज 8,51,14,937 तथा दूसरी डोज 2,01,01,555 लगायी गयी हैं तथा अब तक कुल 10,52,16,492 डोज दी जा चुकी है। उन्होंने बताया कि इस महीने में अब तक लगभग सवा तीन करोड़ वैक्सीन की डोज दी जा चुकी है। कोविड-19 से बचने के लिए 60 वर्ष से अधिक आयु के लोग अपना टीकाकरण अवश्य करायें। 

इसे भी पढ़ें: गन्ने के मूल्य में सिर्फ 25 रुपये की हुई वृद्धि, बावजूद इसके पश्चिमी यूपी के किसान क्यों हैं योगी सरकार के साथ?

उन्होंने बताया कि मच्छर जनित रोग तथा जल जनित रोग को लेकर सावधानी बरते। साफ पीने के पानी व सफाई पर विशेष ध्यान दें। कोविड संक्रमण अभी पूरी तरह समाप्त नहीं हुआ है। पूर्ण सुरक्षा के लिये कोविड के टीके के दोनों डोज अवश्य लगवायें। इसलिए सभी लोग कोविड अनुरूप आचरण करे। टीकाकरण के बाद भी कोविड प्रोटोकॉल का पालन अवश्य करें। किसी भी प्रकार की समस्या होने पर कोविड हेल्पलाइन 18001805145 पर सम्पर्क करे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।