आंध प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा नहीं मिलने के लिए विपक्ष और कांग्रेस जिम्मेदार: वाईएसआर कांग्रेस

opposition-and-congress-responsible-for-not-getting-state-status-for-special-state-ysr-congress
लोकसभा उपाध्यक्ष पद पर रूख को लेकर वाईएसआर कांग्रेस के सूत्रों ने बताया कि कोई सीधी या औपचारिक पेशकश नहीं आई है लेकिन संकेत दिए गए हैं। पार्टी के नेता ने कहा, ‘‘ पार्टी को यह पद नहीं चाहिए, क्योंकि इससे सत्तारूढ़ दल के साथ खड़ा हुआ देखा जाएगा। पार्टी केंद्र के आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने तक यह (केंद्र के साथ खड़े दिखना) नहीं चाहती है।’’ उन्होंने कहा कि पार्टी ने अपने रूख से भाजपा नेतृत्व को अवगत करा दिया है।

नयी दिल्ली। वाईएसआर कांग्रेस के लोकसभा उपाध्यक्ष का पद स्वीकार करने की संभावना नहीं है क्योंकि पार्टी आंध्र प्रदेश को विशेष दर्जा दिए जाने की मांग पूरी होने तक भाजपा नीत राजग सरकार के साथ खड़े हुए नहीं दिखना चाहती है।  वाईएसआर कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि उनकी पार्टी सत्ता पक्ष और विपक्ष, दोनों से ही समान दूरी रखना चाहती है। वाईएसआर कांग्रेस 17वीं लोकसभा में चौथी सबसे बड़ी पार्टी है। उसके 22 सदस्य हैं।

इसे भी पढ़ें: जगन सरकार ने 32 IAS अधिकारियों का किया तबादला

नेता ने कहा, ‘‘ आंध प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा नहीं मिलने के लिए विपक्ष, खासकर, कांग्रेस भी जिम्मेदार है। इसने राज्य का विभाजन किया लेकिन इसे विशेष राज्य का दर्जा नहीं दिया। लिहाजा हम उनसे भी समान दूरी रखेंगे।’’ बहरहाल, उनकी पार्टी सत्तारूढ़ दल को देश हित वाले कुछ मुद्दों पर समर्थन दे सकती है।

इसे भी पढ़ें: केसीआर ने जगन मोहन को कलेश्वरम परियोजना के उद्घाटन में किया आमंत्रित

लोकसभा उपाध्यक्ष पद पर रूख को लेकर वाईएसआर कांग्रेस के सूत्रों ने बताया कि कोई सीधी या औपचारिक पेशकश नहीं आई है लेकिन संकेत दिए गए हैं। पार्टी के नेता ने कहा, ‘‘ पार्टी को यह पद नहीं चाहिए, क्योंकि इससे सत्तारूढ़ दल के साथ खड़ा हुआ देखा जाएगा। पार्टी केंद्र के आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने तक यह (केंद्र के साथ खड़े दिखना) नहीं चाहती है।’’ उन्होंने कहा कि पार्टी ने अपने रूख से भाजपा नेतृत्व को अवगत करा दिया है। सूत्रों ने यह भी कहा कि लोकसभा उपाध्यक्ष का पद मात्र औपचारिक है जो उनके बहुत ज्यादा काम का नहीं है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़