प्रदेश में ‘‘अराजकता’’ पैदा कर रहा है विपक्षः योगी

कानून व्यवस्था की स्थिति को लेकर आलोचना का सामना कर रहे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आरोप लगाया है कि विपक्षी पार्टियां कुछ जगहों पर ‘‘अराजकता’’ पैदा करने का प्रयास कर रही हैं।

मुरादाबाद-बरेली। उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति को लेकर आलोचना का सामना कर रहे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आरोप लगाया है कि विपक्षी पार्टियां कुछ जगहों पर ‘‘अराजकता’’ पैदा करने का प्रयास कर रही हैं। इसके साथ ही उन्होंने कानून अपने हाथों में लेने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी। मुख्यमंत्री ने रविवार को मुरादाबाद में एक समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि पिछले 15 वर्षों से जो आपराधिक तत्व मुक्त होकर घूम रहे थे और राज्य में जंगलराज बना दिया था, उनकी आदत एक दिन में नहीं बदल सकती। वे ‘‘गड़बड़ी’’ करने का प्रयास कर रहे हैं लेकिन उनकी सरकार उन पर काबू पाने के लिए कदम उठा रही है।

मुख्यमंत्री रातुपुरा गांव में शारीरिक रूप से अशक्त लोगों के बीच व्हील चेयर का वितरण करने के बाद एक सभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा, ‘‘मैं उन्हें एक बार फिर चेतावनी देना चाहता हूं कि वे अपने आप सुधर जाएं या परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहें। हम किसी किसान, श्रमिक, व्यापारी या बेटी को परेशानी नहीं उठाने देंगे।’’ उन्होंने दावा किया कि उनकी सरकार बनने के बाद अपराध दर में कमी आयी है और आने वाले दिनों में स्थिति और सुधरेगी। उन्होंने कहा कि कानून का उल्लंघन करने वालों को नहीं बख्शा जाएगा भले ही उनका राजनीतिक झुकाव कुछ भी हो।

मुख्यमंत्री ने बरेली में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए दावा किया कि प्रदेश में कानून व्यवस्था ठीक हुई है लेकिन कुछ जगहों पर विपक्षी पार्टियां अराजकता फैला रहीं हैं। पार्टी कार्यकर्ताओं को उनके प्रयासों को पर्दाफाश करना चाहिए। आदित्यनाथ ने कहा, ‘‘हमारी मुख्य प्राथमिकता राज्य में कानून का शासन स्थापित करने की है। मैं राज्य के लोगों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि अगर कोई कानून अपने हाथों में लेने का प्रयास करता है तो सरकार तथा प्रशासन उनके साथ सख्ती से पेश आएगा।’’

मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने कहा कि वह कानून व्यवस्था की स्थिति तथा विकास का जायजा लेने के लिए हर विभाग में जा रहे हैं। अपनी सरकार की उपलब्धियों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि गन्ना किसानों को उनके बकाए का भुगतान मिल गया है वहीं राज्य में बिजली आपूर्ति में सुधार हुआ है। आदित्यनाथ ने कहा कि अशक्तों तथा गरीबों का सशक्तिकरण उनकी सरकार की शीर्ष प्राथमिकताओं में है।

बरेली रवाना होने से पहले उन्होंने मुरादाबाद में संभागीय अधिकारियों के साथ बैठक में कानून व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा की। उन्होंने दोषियों को नहीं बख्शने का और निर्दोष लोगों को परेशान नहीं करने का अधिकारियों को निर्देश दिया। सहारनपुर में हिंसा के विरोध में दलितों के एक समूह ने काले झंडों के साथ मुरादाबाद में बैठक स्थल के बाहर घेराव किया। मुख्यमंत्री ने बरेली में पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि उन्हें मोदी सरकार की तीन साल की उपलब्धियों की जानकारी आम लोगों तक पहुंचानी चाहिए। योगी बरेली मंडल की कानून व्यवस्था और विकास कार्यों की समीक्षा के लिए आये थे। उन्होंने समाजवादी पार्टी और बसपा का नाम लिए बिना कहा कि प्रदेश में 15 साल से जो गंदगी थी, उसे साफ करने में समय लगेगा और प्रदेश में कानून का राज होगा।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़