दिल्ली में लू का प्रकोप, पालम में अधिकतम तापमान 47.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 27, 2020   22:21
दिल्ली में लू का प्रकोप, पालम में अधिकतम तापमान 47.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज

पालम वेधशाला ने सबसे अधिक अधिकतम तापमान 47.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया जो कि मंगलवार के दर्ज तापमान (47.6 डिग्री सेल्सियस) से थोड़ा ही कम है। सफदरजंग वेधशाला ने अधिकतम तापमान 45.9 दर्ज किया। सफदरजंग वेधशाला में दर्ज तापमान पूरे शहर के लिए अधिकृत तापमान माना जाताहै।

नयी दिल्ली।  राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के निवासियों को बुधवार को चिलचिलाती गर्मी और लू के थपेड़ों का सामना करना पड़ा। अधिकतर स्थानों पर पारा सामान्य से छह डिग्री अधिक दर्ज किया गया। मौसम विभाग ने यह जानकारी दी। पालम वेधशाला ने सबसे अधिक अधिकतम तापमान 47.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया जो कि मंगलवार के दर्ज तापमान (47.6 डिग्री सेल्सियस) से थोड़ा ही कम है। सफदरजंग वेधशाला ने अधिकतम तापमान 45.9 दर्ज किया। सफदरजंग वेधशाला में दर्ज तापमान पूरे शहर के लिए अधिकृत तापमान माना जाताहै।

मंगलवार को इसने अधिकतम 46 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया था। भारतीय मौसम विभाग के क्षेत्रीय पूर्वानुमान केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने कहा कि पिछली बार सफदरजंग मौसम केंद्र में पारा 46 डिग्री के निशान पर 19 मई 2002 को पहुंचा था। सफदरजंग के लिए मई में अभी तक का रिकॉर्ड 47.2 डिग्री सेल्सियस का है। यह 29 मई 1944 को दर्ज किया गया था। मौसम विभाग ने कहा कि लोधी रोड और आयंगर स्थित मौसम स्टेशनों में अधिकतम तापमान क्रमश:45.1 और 46.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। 

इसे भी पढ़ें: उत्तर और पश्चिम भारत के कई हिस्से लू की चपेट में, असम में भारी बारिश के आसार

श्रीवास्तव ने कहा कि तपती गर्मी से कुछ राहत 28 मई को ताजा पश्चिमी विक्षोभ से और कम ऊंचाई पर बहने वाली पूर्वी हवाओं से मिल सकती है। उन्होंने कहा कि 29-30 मई को दिल्ली-एनसीआर में धूल भरी आंधी और गरज चमक के साथ 60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चल सकती है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।