कोरोना संक्रमितों की संख्या में जबरदस्त उछाल, एक दिन में सर्वाधिक 55 हजार से ज्यादा केस दर्ज

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 31, 2020   10:58
कोरोना संक्रमितों की संख्या में जबरदस्त उछाल, एक दिन में सर्वाधिक 55 हजार से ज्यादा केस दर्ज

देश में अब भी 5,45,318 लोग संक्रमण की चपेट में हैं। मरीजों के स्वस्थ होने की दर 64.54 प्रतिशत हो गई जबकि इस बीमारी से मृत्यु दर घटकर 2.18 प्रतिशत हो गई है।

नयी दिल्ली। देश में एक दिन में कोविड-19 के सर्वाधिक 55,078 मामले सामने आने के बाद इस बीमारी के कुल मरीजों की संख्या शुक्रवार को 16 लाख के पार पहुंच गई। इससे महज दो दिन पहले देश में संक्रमण के 15 लाख मामले थे। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के डेटा के मुताबिक स्वस्थ होने वालों की संख्या भी बढ़कर 10,57,805 हो गई है। सुबह आठ बजे तक के डेटा के मुताबिक देश में कोरोना वायरस संक्रमण के अब तक 16,38,870 मामले सामने आए हैं। वहीं पिछले 24 घंटों में 779 और लोगों की मौत होने के बाद मृतक संख्या 35,747 हो गई है। यह लगातार दूसरा दिन है जब 50,000 से अधिक कोविड-19 के मामले सामने आए हैं। संक्रमण के कुल मामलों में विदेशी नागरिक भी शामिल हैं। देश में अब भी 5,45,318 लोग संक्रमण की चपेट में हैं। मरीजों के स्वस्थ होने की दर 64.54 प्रतिशत हो गई जबकि इस बीमारी से मृत्यु दर घटकर 2.18 प्रतिशत हो गई है। 

इसे भी पढ़ें: देश में कोरोना से 10 लाख से अधिक मरीज हुए स्वस्थ, उपचाराधीन मामलों से 1.9 गुणा अधिक है संख्या 

आईसीएमआर के मुताबिक 30 जुलाई तक कुल 1,88,32,970 नमूनों की जांच की गई है जिनमें से 6,42,588 नमूनों की जांच बृहस्पतिवार को की गई। शुक्रवार को हुई 779 लोगों की मौत में से 266 लोगों की मौत महाराष्ट्र में हुई। इसके बाद तमिलनाडु में 97, कर्नाटक में 83, आंध्र प्रदेश में 68 और उत्तर प्रदेश में 57 लोगों की मौत हुई। वहीं पश्चिम बंगाल में 46, दिल्ली में 29, गुजरात में 22, जम्मू-कश्मीर में 17, मध्य प्रदेश में 14 और राजस्थान तथा तेलंगाना में 13-13 लोगों की मौत हुई है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।