पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के अंतिम चरण में 76 फीसदी से अधिक मतदान

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 29, 2021   20:52
पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के अंतिम चरण में 76 फीसदी से अधिक मतदान

निर्वाचन आयोग ने बृहस्पतिवार को कहा कि पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के आठवें और अंतिम चरण के मतदान में 76 फीसदी से अधिक मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया।

नयी दिल्ली/कोलकाता। निर्वाचन आयोग ने बृहस्पतिवार को कहा कि पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के आठवें और अंतिम चरण के मतदान में 76 फीसदी से अधिक मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया। दिल्ली में आयोग ने एक बयान जारी कर बताया कि अंतिम चरण में 35 विधानसभा क्षेत्रों के सभी 11,860 मतदान केंद्रों पर मतदान ‘शांतिपूर्ण’ रहा। सीतलकूची विधानसभा क्षेत्र में अमताली माध्यमिक शिक्षा केंद्र नामक मतदान केंद्र पर बृहस्पतिवार को ही फिर से मतदान संपन्न हुआ। गत 10 अप्रैल को कूचबिहार में केंद्रीय सुरक्षा बलों की ओर से कथित तौर पर की गई गोलीबारी में पांच लोगों के मारे जाने के बाद इस मतदान केंद्र पर मतदान निलंबित कर दिया गया था।

इसे भी पढ़ें: कोरोना की दवाइयों व कोरोना पीडितों के नाम पर ऑनलाईन वित्तीय ठगी से बचाव के लिए राज्‍य सायबर पुलिस ने जारी की एडवाइजरी

आरोप है कि कुछ स्थानीय लोगों ने सुरक्षा बलों की राइफल छीनने का प्रयास किया था जिसके बाद गोलीबारी की गई। पश्चिम बंगाल के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) आरीज़ आफताब ने कोलकाता में बताया कि मतदान के आंकड़े पांच बजे तक के हैं जबकि मतदान शाम साढ़े छह बजे तक चला। आफताब ने बताया कि बीरभूम जिले में सबसे ज्यादा 81.87 प्रतिशत मतदान हुआ। इसके बाद मालदा में 80.06 फीसदी, मुर्शिदाबाद में 78.07 प्रतिशत और कोलकाता में 57.53 फीसदी वोट पड़े। उन्होंने बताया, “ मतदान आज शांतिपूर्ण रहा, लेकिन हिंसा की चंद घटनाएं रिपोर्ट हुईं।”

इसे भी पढ़ें: राष्ट्रीय राजधानी में लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं देने का दायित्व दिल्ली सरकार का : केंद्र सरकार

आयोग के मुताबिक, आठवें चरण के मतदान में 11,860 बैलट यूनिट, 11,860 कंट्रोल यूनिट और 11,860 वीवीपैट का उपयोग किया गया। आमतौर पर एक ईवीएम के साथ एक कंट्रोल यूनिट, कम से कम एक बैलट यूनिट और एक पेपर ट्रेल मशीन होती है। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में बृहस्पतिवार तक 339.45 करोड़ रुपये की नकदी, शराब और मतदाताओं को लुभाने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली कुछ दूसरी वस्तुएं जब्त किए जाने की जानकारी सामने आई। यह आंकड़ा 2016 के विधानसभा चुनाव के मुकाबले 7.65 गुना अधिक है। आयोग ने अंतिम चरण के चुनाव के लिए सुरक्षा बलों की 641 कंपनियां तैनात की थी। मतगणना दो मई को होगी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।