ऑक्सफेम का अरबपतियों पर सम्पत्ति कर लगाने का आह्वान

Oxfam
यहां विश्व आर्थिक मंच की वार्षिक बैठक 2022 के दौरान लैंगिक समानता पर एक सत्र में बोलते हुए, ऑक्सफेम इंटरनेशनल की कार्यकारी निदेशक गैब्रिएला बुचर ने कहा कि कुछ उद्योग बहुत अच्छा कर रहे हैं और महामारी के दो वर्षों के दौरान अरबपतियों की संपत्ति में काफी वृद्धि हुई है।

दावोस ऑक्सफेम इंटरनेशनल ने ‘ग्लोबल साउथ’ में बाल देखभाल, शिक्षा और महिलाओं के लिए काम के अवसरों के वित्तपोषण के लिए कोविड-19 महामारी के सबसे धनी लाभार्थियों पर कर लगाने का सोमवार को आह्वान किया।

यहां विश्व आर्थिक मंच की वार्षिक बैठक 2022 के दौरान लैंगिक समानता पर एक सत्र में बोलते हुए, ऑक्सफेम इंटरनेशनल की कार्यकारी निदेशक गैब्रिएला बुचर ने कहा कि कुछ उद्योग बहुत अच्छा कर रहे हैं और महामारी के दो वर्षों के दौरान अरबपतियों की संपत्ति में काफी वृद्धि हुई है।

उन्होंने कहा कि हालांकि, दूसरी तरफ, लाखों महिलाएं प्रभावित हुई हैं, खासकर ‘ग्लोबल साउथ’ (लातिन अमेरिका, एशिया और अफ्रीका के कुछ देशों) में ऐसा हुआ है और उन्हें अनौपचारिक क्षेत्र में अपनी नौकरी गंवानी पड़ी है।

उन्होंने कहा कि लैंगिक समानता हासिल करने में अब 136 साल लगेंगे क्योंकि महामारी ने प्रगति को एक पीढ़ी पीछे धकेल दिया है। बुचर ने कराधान के माध्यम से अर्थव्यवस्था में संरचनात्मक परिवर्तनों का आह्वान किया।

उन्होंने कहा, ‘‘मोटे तौर पर जो शीर्ष पर मुनाफा कमा रहे हैं उनमें ज्यादातर पुरुष हैं और पूरी व्यवस्था, अवैतनिक देखभाल कार्य के संबंध में वास्तव में महिलाओं के कंधों पर है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम समाधानों के वित्तपोषण के लिए धन पर कर लगाने की वकालत करते हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़