दिल्ली के मैक्स अस्पताल में पहुंचाई गयी ऑक्सीजन, दो घंटे की ही बची थी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 23, 2021   14:27
दिल्ली के मैक्स अस्पताल में पहुंचाई गयी ऑक्सीजन, दो घंटे की ही बची थी

साकेत के मैक्स अस्पताल ने शुक्रवार सुबह त्राहिमाम का संदेश भेज कर बताया कि उसके पास बस “एक घंटे की ऑक्सीजन आपूर्ति” बची है और करीब 700 मरीज वहां भर्ती हैं। दो घंटे बाद, अस्पताल ने एक ट्वीट कर पुष्टि की कि उसे आपातकालीन आपूर्ति मिल गई है जो “अगले दो घंटे तक चल पाएगी।”

नयी दिल्ली। साकेत के मैक्स अस्पताल ने शुक्रवार सुबह त्राहिमाम का संदेश भेज कर बताया कि उसके पास बस “एक घंटे की ऑक्सीजन आपूर्ति” बची है और करीब 700 मरीज वहां भर्ती हैं। दो घंटे बाद, अस्पताल ने एक ट्वीट कर पुष्टि की कि उसे आपातकालीन आपूर्ति मिल गई है जो “अगले दो घंटे तक चल पाएगी।” मैक्स ने कहा कि वह देर रात एक बजे से ही ऑक्सीजन उत्पादक से नये सिरे से आपूर्ति की प्रतीक्षा कर रहा था। अस्पताल ने सुबह सात बजकर 43 मिनट पर ट्वीट किया, “त्राहिमाम- मैक्स स्मार्ट हॉस्पिटल और मैक्स हॉस्पिटल साकेत में ऑक्सीजन की आपूर्ति एक घंटे से भी कम बची है। इनोक्स से ताजा आपूर्ति की देर रात एक बजे से ही इंतजार कर रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: शशि थरूर ने सुमित्रा महाजन के निधन की गलत खबर के ट्वीट के लिए माफी मांगी

करीब 700 मरीज भर्ती हैं, तुरंत मदद की जरूरत है।” दक्षिणी दिल्ली डीसीपी के मुताबिक, ऑक्सीजन लेकर एक वाहन सुबह नौ बजे मैक्स स्मार्ट पहुंचा और दूसरा वाहन रास्ते में है। पुलिस ने ट्वीट किया, “ऑक्सीजन लेकर वाहन मैक्स स्मार्ट पहुंच चुका है। दूसरा वाहन मैक्स पूर्व पश्चिम के रास्ते में है। वरिष्ठ अधिकारी स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं।” मैक्स हेल्थकेयर ने करीब साढे नौ बजे कहा कि उसे और आपूर्ति का इंतजार है।

इसे भी पढ़ें: बिहार में दर्दनाक हादसा, गंगा नदी में गिरी सवारियों से भरी जीप, 10 लोगों की मौत

अस्पताल ने कहा, “अपडेट : हमें मैक्स साकेत और मैक्स स्मार्ट में आपातकालीन आपूर्तियां प्राप्त हो गई हैं जो अगले दो घंटे चलेगी। हम और आपूर्तियों का इंतजार कर रहे हैं।” राष्ट्रीय राजधानी में ऑक्सीजन के गंभीर संकट के बीच सर गंगाराम अस्पताल में पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के “सबसे बीमार” मरीजों की मौत हो गई। सूत्रों ने कहा कि मौत के पीछे संभवत: “कम दबाव वाली ऑक्सीजन” जिम्मेदार हो सकती है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...