उत्तर प्रदेश के लिए प्राणवायु ले जा रही ऑक्सीजन एक्सप्रेस, 24 अप्रैल को लखनऊ पहुंचेगी

उत्तर प्रदेश के लिए प्राणवायु ले जा रही ऑक्सीजन एक्सप्रेस, 24 अप्रैल को लखनऊ पहुंचेगी

आंध्र प्रदेश में रेलवे सेंट्रल चिकित्सा ऑक्सीजन का परिवहन करने को कहा है। रेलवे बोर्ड अध्यक्ष ने कहा कि दिल्ली सरकार ने अभी हमें कुछ ‘ऑक्सीजन एक्सप्रेस’ ट्रेनों के लिए आग्रह भेजा है, उनसे ट्रक तैयार रखने को कहा गया है।

कोरोना वायरस महामारी के बढ़ते संक्रमण के बीच देश में ऑक्सीजन की कमी है। इसी को ध्यान में रखते हुए रेलवे की ओर से ऑक्सीजन एक्सप्रेस चलाने का फैसला किया गया है। फिलहाल बोकारो से एक ऑक्सीजन एक्सप्रेस लखनऊ के लिए रवाना हो चुकी है जो कल सुबह लखनऊ पहुंचेगी। इन सबके बीच रेलवे बोर्ड अध्यक्ष ने कहा कि दिल्ली आंध्र प्रदेश में रेलवे सेंट्रल चिकित्सा ऑक्सीजन का परिवहन करने को कहा है। रेलवे बोर्ड अध्यक्ष ने कहा कि दिल्ली सरकार ने अभी हमें कुछ ‘ऑक्सीजन एक्सप्रेस’ ट्रेनों के लिए आग्रह भेजा है, उनसे ट्रक तैयार रखने को कहा गया है।

रेलवे बोर्ड अध्यक्ष ने कहा कि दिल्ली की ऑक्सीजन की मांग राउरकेला द्वारा पूरी किए जाने की संभावना है, जबकि आंध्र प्रदेश की मांग अंगुल, ओडिशा द्वारा पूरी किए जाने की संभावना है। ‘ऑक्सीजन एक्सप्रेस’ के प्रत्येक टैंकर में 16 टन ऑक्सीजन होती है। रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार द्वारा लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन के ट्रांसपोर्ट के लिए रेल चलाने का आनुरोध के बाद 19 अप्रैल को पहली एलएमओ एक्सप्रेस मुंबई और विशाखापट्टनम के बीच चलाई गई। इसके बाद 22 अप्रैल को लखनऊ से बोकारो दूसरी एलएमओ एक्सप्रेस ट्रेन चलाई गई। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।