ऑक्सीजन एक्सप्रेस 70 टन ऑक्सीजन लेकर सोमवार रात दिल्ली पहुंचेगी : रेलवे

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 25, 2021   17:16
ऑक्सीजन एक्सप्रेस 70 टन ऑक्सीजन लेकर सोमवार रात दिल्ली पहुंचेगी : रेलवे

इन स्थानों का परीक्षण करने और व्यावहारिकता का विश्लेषण करने के बाद राज्य सरकार को सूचित किया गया कि सात स्थानों से ऑक्सीजन को ट्रेन से उतारा जा सकता है जबकि दो स्थान तकनीकी कारणों से इस कार्य के लिए उपयुक्त नहीं है।

नयी दिल्ली। रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष सुनीत शर्मा ने बताया कि कुल 70 टन ऑक्सीजन के चार टैंकर को लेकर पहली ऑक्सीजन एक्सप्रेस रविवार रात को रायगढ़ के जिंदल इस्पात संयंत्र से रवाना होगी और सोमवार रात को दिल्ली पहुंचेगी। उन्होंने बताया कि रेलवे ने अंगुल, कलिंगनगर, राउरकेला और रायगढ़ से दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में ऑक्सीजन पहुंचाने की योजना बना ली है। शर्मा ने कहा कि दिल्ली सरकार को सलाह दी गई है कि वह ऑक्सीजन प्राप्त करने के लिए रोड टैंकर तैयार रखे। रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष ने कहा, ‘‘पहली ऑक्सीजन एक्सप्रेस चार टैंकरों में 70 टन ऑक्सीजन भरकर राष्ट्रीय राजधानी के लिए आज रात रवाना होगी। यह एक्सप्रेस रायगढ़ स्थित जिंदल स्टील वर्क से ऑक्सीजन लेकर दिल्ली छावनी सोमवार रात को पहुंचेगी।’’

उल्लेखनीय है कि कई इलाकों में कोविड-19 के मामलों में बढ़ोतरी की वजह से ऑक्सीजन की बढ़ी मांग को पूरा करने के लिए रेलवे ने ऑक्सीजन एक्सप्रेस चलाने का फैसला किया है।. शर्मा ने कहा, ‘‘अबतक हमने 150 टन ऑक्सीजन महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश पहुंचायी है और आज रात 150 टन और ऑक्सजीन की ढुलाई करेंगे। दिल्ली के लिए रायगढ़ के जिंदल इस्पात कारखाने में चार टैंकर भरकर लाने के लिए तैयार है।’’ अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली सरकार ने रेलवे को लिखे पत्र में नौ स्थानों पर ऑक्सीजन उतराने की सुविधा देने को कहा था। अधिकारी ने बताया, ‘‘इन स्थानों का परीक्षण करने और व्यावहारिकता का विश्लेषण करने के बाद राज्य सरकार को सूचित किया गया कि सात स्थानों से ऑक्सीजन को ट्रेन से उतारा जा सकता है जबकि दो स्थान तकनीकी कारणों से इस कार्य के लिए उपयुक्त नहीं है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।