पाक सेना ने नियंत्रण रेखा के पास फिर की गोलेबारी, भारतीय सेना ने दिया मुंहतोड़ जवाब

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 28, 2020   14:29
पाक सेना ने नियंत्रण रेखा के पास फिर की गोलेबारी, भारतीय सेना ने दिया मुंहतोड़ जवाब

रक्षा प्रवक्ता ने बताया कि भारतीय सेना उन्हें मुंहतोड़ जवाब दे रही है। पाकिस्तानी सेना ने पुंछ जिले के ही मनकोट और मेंढर सेक्टर के अग्रिम इलाकों और कठुआ जिले के हीरानगर सेक्टर में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर गोलाबारी की।

जम्मू। जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा के पास के अग्रिम इलाकों में पाकिस्तानी सेना ने भारी गोलीबारी की और मोर्टार दागे जिस पर भारतीय सेना ने भी जवाबी प्रभावी कार्रवाई की। अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी। अधिकारियों ने बताया कि पाकिस्तान ने मंगलवार को लगातार आठवें दिन भी संघर्षविराम का उल्लंघन किया। पिछले कुछ दिनों में पाकिस्तानी सैनिकों ने 20 से अधिक बार संघर्षविराम का उल्लंघन किया। रक्षा प्रवक्ता ने बताया, “आज सुबह लगभग 10 बजे पाकिस्तानी सेना ने बिना किसी उकसावे के नियंत्रण रेखा पर संघर्ष विराम का उल्लंघन किया और पुंछ जिले के मेंढर सेक्टर में छोटे हथियारों से भारी गोलाबारी की तथा मोर्टार दागे।’’ 

इसे भी पढ़ें: पाकिस्तान ने गुरुद्वारे को मस्जिद में बदलने का किया प्रयास, अमरिंदर सिंह ने की निंदा 

उन्होंने बताया कि भारतीय सेना उन्हें मुंहतोड़ जवाब दे रही है। पाकिस्तानी सेना ने पुंछ जिले के ही मनकोट और मेंढर सेक्टर के अग्रिम इलाकों और कठुआ जिले के हीरानगर सेक्टर में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर गोलाबारी की। इस गोलीबारी में एक मवेशी घायल हो गया एवं एक मकान को नुकसान पहुंचा। उल्लेखनीय है कि पाकिस्तानी सैनिकों ने एलओसी से लगे राजौरी और पुंछ जिलों के अग्रिम इलाकों में गत मंगलवार, बुधवार, बृहस्पतिवार, शुक्रवार, शनिवार और रविवार को भी गोलेबारी की थी। साथ ही, कठुआ जिले के बालाकोटे, सदरबनी, नौशेरा, कस्बा, किरनी, मेंढर, मनकोटे, देगवार, कृष्णघाटी और हीरानगर सेक्टर में सोमवार को गोलेबारी की।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।