पाकिस्तान ने पुंछ में नियंत्रण रेखा से सटे इलाकों में गोलाबारी की, एक व्यक्ति घायल

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 31, 2020   12:09
पाकिस्तान ने पुंछ में नियंत्रण रेखा से सटे इलाकों में गोलाबारी की, एक व्यक्ति घायल

अधिकारी ने बताया कि भारतीय सेना ने कड़ा जवाब दिया लेकिन पाकिस्तान में किसी के हताहत होने की अभी कोई जानकारी नहीं मिली है। उन्होंने बताया कि सीमा इलाकों में घबराए लोगों ने पूरी रात बंकरों और अन्य सुरक्षित स्थानों में गुजारी।

जम्मू। पाकिस्तानी सेना ने जम्मू कश्मीर के पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर रात भर मोर्टार से गोलाबारी की जिसमें 25 वर्षीय व्यक्ति घायल हो गया। अधिकारियों ने रविवार को बताया कि मेंढर और बालाकोट सेक्टरों में गोलाबारी शनिवार रात करीब 11 बजे शुरू हुई और रविवार तड़के चार बजकर 50 मिनट तक चलती रही। अधिकारियों ने बताया कि रविवार तड़के गोहलाद निवासी मोहम्मद यासीर के घर के पास एक मोर्टार का गोला फटा जिससे वह घायल हो गया। उन्होंने बताया कि रात भर हुई गोलाबारी में अग्रिम इलाकों में स्थित छह से ज्यादा गांव प्रभावित हुए और दो मकान आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हुए। मेंढर सेक्टर में गोलाबारी बहुत तेज थी।

इसे भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीर में लश्कर-ए-तैयबा के आतंकियों से जुड़े तीन लोग गिरफ्तार, भारी मात्रा में हथियार बरामद

अधिकारी ने बताया कि भारतीय सेना ने कड़ा जवाब दिया लेकिन पाकिस्तान में किसी के हताहत होने की अभी कोई जानकारी नहीं मिली है। उन्होंने बताया कि सीमा इलाकों में घबराए लोगों ने पूरी रात बंकरों और अन्य सुरक्षित स्थानों में गुजारी।

इसे भी पढ़ें: मोदी सरकार के 1 साल: लॉकडाउन और अनुच्छेद 370 समाप्त करना गृह मंत्रालय की उपलब्धियों में शामिल

एक रक्षा प्रवक्ता ने बताया कि पाकिस्तानी सेना ने बालाकोट और मेंढर सेक्टरों में एलओसी पर छोटे हथियारों से गोलीबारी कर और मोर्टार के गोले दागकर बिना उकसावे के संघर्ष विराम उल्लंघन किया। पाकिस्तान ने शनिवार को पुंछ जिले के किरनी और खारी करमारा क्षेत्रों में अग्रिम इलाकों को निशाना बनाया था।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...