PAK संघर्षविराम उल्लंघन की आड़ में J&K में आतंकवादियों को भेजने का कर रहा प्रयास: दिलबाग सिंह

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 23, 2020   19:54
PAK संघर्षविराम उल्लंघन की आड़ में J&K में आतंकवादियों को भेजने का कर रहा प्रयास: दिलबाग सिंह

जम्मू कश्मीर के पुलिस प्रमुख दिलबाग सिंह ने सीआरपीएफ के एक जवान को श्रद्धांजलि देने के बाद कहा कि संघर्षविराम उल्लंघन की आड़ में कुपवाड़ा और बारामुला में भी आतंकवादियों को इस तरफ भेजने के प्रयास किए जा रहे हैं।

श्रीनगर। जम्मू कश्मीर के पुलिस प्रमुख दिलबाग सिंह ने मंगलवार को कहा कि पाकिस्तान अपने सैनिकों द्वारा संघर्षविराम उल्लंघन की आड़ में जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों को भेजने की कोशिश कर रहा है। सिंह ने कहा, ‘‘पाकिस्तान कश्मीर में जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा के और आतंकवादियों को भेजने के प्रयास कर रहा है। इसके लिए वे जम्मू में अंतरराष्ट्रीय सीमा या नौशेरा सेक्टर में नियंत्रण रेखा (राजौरी जिले में) का उपयोग करने की कोशिश कर रहे हैं।’’ उन्होंने यहां सीआरपीएफ के एक जवान को श्रद्धांजलि देने के बाद कहा, ‘‘संघर्षविराम उल्लंघन की आड़ में कुपवाड़ा और बारामुला में भी आतंकवादियों को इस तरफ भेजने के प्रयास किए जा रहे हैं। सेना वहां इन प्रयासों को नाकाम कर रही है।’’ 

इसे भी पढ़ें: कश्मीर में हिंसा को बढ़ावा देने के लिए घुसपैठ की ताक में हैं 300 से ज्यादा आतंकी ! DGP ने सुरक्षा बैठक की 

सीआरएपीएफ का एक जवान आज सुबह पुलवामा में आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच हुई एक मुठभेड़ में शहीद हो गया। मुठभेड़ में दो आतंकवादी भी मारे गए जिनकी अभी पहचान नहीं हो पायी है। इस साल जम्मू-कश्मीर में सीमा पर पाकिस्तानी गोलाबारी में बढ़ोतरी हुई है और 10 जून तक 2,027 से अधिक संघर्षविराम उल्लंघन हो चुके हैं। पुलिस प्रमुख ने यह भी दावा किया कि जैश-ए-मोहम्मद आतंकवादी समूह सुरक्षा बलों पर एक बड़ा आईईडी हमला करने की योजना बना रहा है और कहा कि सुरक्षा तंत्र उससे निपटने के लिए तैयार है। 

इसे भी पढ़ें: सुरक्षाबलों ने इस साल 88 आतंकियों का किया खात्मा, 280 अन्य को जिंदा पकड़ा: दिलबाग सिंह 

उन्होंने कहा, ‘‘हमने पिछले महीने की 28 तारीख को एक वाहन के जरिये आईईडी हमला करने की योजना विफल कर दी थी। जैश अब सुरक्षा बलों के खिलाफ किसी बड़े आईईडी हमले की साजिश रच रहा है। हम इस तरह की साजिशों के खिलाफ सभी स्तरों पर पूरी तरह से सतर्क हैं, मुझे यकीन है कि हमारी सतर्कता हम उन साजिशों से निपट लेंगे।’’ आतंकवादियों के खिलाफ हालिया अभियानों की सफलताओं के बारे में पूछे जाने पर पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) ने कहा कि सुरक्षा बल रोज़ाना मिलने वाले खुफिया इनपुट के आधार पर लगभग दो दर्जन अभियान संचालित कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कभी एक दो अभियान सफल हो जाते हैं और कभी एक भी सफल नहीं हो पाता।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।