पंकजा मुंडे पर रैली में निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने का मामला दर्ज

Pankaja Munde
पंकजा मुंडे ने 25 अक्टूबर को सावरगांव में भगवान गढ़ का दौरा किया और वहां से एक ऑनलाइन दशहरा रैली को संबोधित किया। अधिकारी ने बताया कि जिले में निषेधाज्ञा लागू की गई थी और एक स्थान पर अधिकतम पांच लोगों के इकठ्ठा होने की अनुमति थी।

औरंगाबाद। महाराष्ट्र के बीड जिले के सावरगांव में रैली के दौरान निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने के आरोप में भाजपा नेता पंकजा मुंडे सहित 40-50 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने मंगलवार को यह जानकारी दी। मुंडे ने 25 अक्टूबर को सावरगांव में भगवान गढ़ का दौरा किया और वहां से एक ऑनलाइन दशहरा रैली को संबोधित किया। एक अधिकारी ने बताया कि पंकजा मुंडे, राज्यसभा सदस्य डॉ भागवत कराड, विधायक मोनिका राजले और मेघना बोर्डीकर एवं रैली में शामिल अन्य लोगों के खिलाफ अमलनेर पुलिस थाने में मामला दर्ज किया गया है। 

इसे भी पढ़ें: महाराष्ट्र के मंत्री ने बिजली संकट के लिये टाटा पावर पर उठाये सवाल

अधिकारी ने बताया कि जिले में निषेधाज्ञा लागू की गई थी और एक स्थान पर अधिकतम पांच लोगों के इकठ्ठा होने की अनुमति थी। रैली में नियमों का उल्लंघन किया गया जिसके कारण भादसं की धारा 188 और और आपदा प्रबंधन अधिनियम के प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया गया है। इस बीच सोमवार रात प्रतिक्रिया देते हुए मुंडे ने ट्वीट किया, “मैं आवश्यक अनुमति मिलने के बाद ही भगवान भक्ति गढ़ के पास गयी थी और अब यह मामला दर्ज किया गया है। भाजपा कार्यकर्ताओं के बाद अब अपराध दर्ज करने की यह दौर मुझ तक पहुंच गया है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़