हार के बाद पार्टियां विभाजित हो जाती है लेकिन भाजपा नहीं: अमित शाह

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jul 7 2019 11:42AM
हार के बाद पार्टियां विभाजित हो जाती है लेकिन भाजपा नहीं: अमित शाह
Image Source: Google

सदस्यता अभियान की औपचारिक रूप से शुरुआत करने से पहले भाजपा अध्यक्ष हैदराबाद के नजदीक स्थित एक आदिवासी परिवार के घर गए और उन्हें भाजपा की सदस्यता दिलाई।

हैदराबाद। भाजपा प्रमुख अमित शाह ने शनिवार को कहा कि चुनावों में हार के बाद कई पार्टियां विभाजित हो जाती हैं क्योंकि वह ‘‘व्यक्ति, परिवार और जाति के आधार’’ पर चलती हैं, लेकिन भाजपा के साथ ऐसा नहीं है। उन्होंने कहा कि भाजपा अपनी विचारधारा के आधार पर पिछले कुछ वर्षों में मजबूत हुई है। तेलंगाना में पार्टी के सदस्यता अभियान का शुभारंभ करते हुए उन्होंने कहा कि देश के चुनावी इतिहास में कई पार्टियां महज एक ही हार से टूट गई और विभाजित हो गई। उन्होंने कहा कि अंग्रेजी वर्णमाला ‘‘ए-बी-सी-डी...’’ में ऐसा कोई अक्षर नहीं है, जिस पर देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस के टूटने के बाद कोई पार्टी नहीं बनी हो। कांग्रेस ‘ओ’, कांग्रेस ‘यू’...सभी (ए-बी-सी-डी...) नाम से कांग्रेस पार्टी बनी है। शाह ने कहा कि केवल एक हार के बाद कांग्रेस पार्टी टूट गई। उन्होंने तेलुगू देशम पार्टी का भी जिक्र करते हुए कहा कि यह पार्टी भी टूट गई। उन्होंने कहा, ‘‘ऐसी पार्टियां हार बर्दाश्त नहीं कर सकती क्योंकि वे व्यक्ति, परिवार और जाति के आधार पर चलती हैं।’’



भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि हालांकि भाजपा के साथ ऐसा नहीं है, ‘‘जो विचारधारा पर आधारित है और भारत माता को ‘विश्व गुरु’ बनाने के सपने के साथ आगे बढ़ रही है।’’ सदस्यता अभियान की औपचारिक रूप से शुरुआत करने से पहले भाजपा अध्यक्ष हैदराबाद के नजदीक स्थित एक आदिवासी परिवार के घर गए और उन्हें भाजपा की सदस्यता दिलाई। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वाराणसी में सदस्यता अभियान की शुरुआत की थी। शाह ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने लोकसभा में केवल दो सदस्य होने के लिए भाजपा का मजाक उड़ाते हुए कहा था कि वे ‘‘परिवार नियोजन’’ में यकीन रखते हैं। उन्होंने कहा कि अब स्थिति यह है कि कांग्रेस को संसद में मुख्य विपक्षी दल का दर्जा तक नहीं मिला, जबकि भाजपा पूर्ण बहुमत के साथ सत्ता में आयी है।

शाह ने तेलंगाना में 18 लाख नए सदस्य शामिल करने का लक्ष्य रखा, जबकि राज्य ईकाई ने 12 लाख का लक्ष्य रखा था। उन्होंने कहा कि अगर राज्य ईकाई यह नहीं कर सकी तो वह खुद हर जिले में जाकर इस अभियान को आगे बढ़ाएंगे। शाह ने कहा, ‘‘मैंने भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव पी मुरलीधर राव से पूछा... उन्होंने मुझे तेलंगाना में मौजूदा 18 लाख सदस्यों में 12 लाख नए सदस्यों को जोड़ने की योजना बताई।’’ उन्होंने कहा, ‘‘अगर आप (राज्य नेतृत्व) यह नहीं कर सकते तो मुझे बता दीजिए। मैं तेलंगाना में हर जिले में जाऊंगा और सदस्यता अभियान चलाऊंगा। हमें तेलंगाना में भाजपा को मजबूत करने और अन्य 18 लाख नए सदस्य बनाने की जरुरत है।’’ उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने पार्टी कार्यकर्ताओं को गांवों में सदस्यता अभियान के दौरान स्वच्छता अभियान, पौधारोपण और जल संरक्षण अभियान चलाने के लिए भी कहा है। शाह ने भाजपा को 19 फीसदी मत देने के लिए तेलंगाना के लोगों का आभार जताया। उन्होंने कहा कि यह दर्शाता है कि पार्टी राज्य में अगली सरकार बनाएगी। केंद्रीय गृह मंत्री ने शनिवार को जन संघ संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जयंती के मौके पर उन्हें श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कश्मीर को भारत का अभिन्न अंग बनाए रखने में उनकी भूमिका को याद किया।


रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video