• पठानकोट में सांसद सन्नी देओल के लिए ‘गुमशुदा की तलाश’ वाला पोस्टर लगा

देओल ने सोमवार को अपने ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो संदेश में कहा कि इस तरह की हरकतों के पीछे उनके राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी हैं। गुरदासपुर निर्वाचन क्षेत्र के लिए भविष्य में कुछ बड़ी परियोजनाएं लाने का वादा करते हुए देओल ने कहा कि मुझे पता चला है कि मेरे प्रतिद्वंद्वी मेरे बारे में बेतुकी बातें कर रहे हैं।

चंडीगढ़। गुरदासपुर के सांसद एवं अभिनेता सन्नी देओल को लापता घोषित करने वाला पोस्टर पंजाब के पठानकोट जिले में दिखा है। यह जिला गुरदासपुर लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आता है। रेलवे स्टेशन के आसपास सहित विभिन्न सार्वजनिक स्थानों पर लगाए गए पोस्टरों में लिखा है ‘गुमशुदा की तलाश सांसद सन्नी देओल।’ यह पता नहीं चल पाया है कि किसने इस तरह के पोस्टर लगाए हैं। 

देओल ने सोमवार को अपने ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो संदेश में कहा कि इस तरह की हरकतों के पीछे उनके राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी हैं। गुरदासपुर निर्वाचन क्षेत्र के लिए भविष्य में कुछ बड़ी परियोजनाएं लाने का वादा करते हुए देओल ने कहा, ‘‘मुझे पता चला है कि मेरे प्रतिद्वंद्वी मेरे बारे में बेतुकी बातें कर रहे हैं।’’ उन्होंने कहा कि पठानकोट शहर में यातायात की समस्या को नैरो गेज एलिवेटेड परियोजना से दूर की जाएगी और केंद्र ने इसके लिए धनराशि मंजूर कर दी है। 

इसे भी पढ़ें: संशोधित नागरिकता कानून पर भाजपा को अपनी जिद की भारी कीमत चुकानी होगी: अमरिंदर

बहरहाल, कांग्रेस नेता और आनंदपुर साहिब के सांसद मनीष तिवारी ने कहा कि देओल के अभिनेता पिता धर्मेंद्र के साथ भी ऐसी ही चीज हुई थी, जब वह बीकानेर लोकसभा सीट से सांसद थे। तिवारी ने ट्वीट किया, ‘‘हैरानी नहीं हुई...ऐसी ही चीजें बीकानेर में उनके पिता धर्मेंद्र के साथ हुई थी। काश गुरदासपुर सुनील जाखड़ को प्रतिनिधित्व का मौका देता। संसद में कांग्रेस की ताकत भी बढती।’’ पिछले साल आम चुनाव में गुरदासपुर में सनी देओल ने कांग्रेस के उम्मीदवार सुनील जाखड़ को 82,459 मतों के अंतर से हराया था।