लॉकडाउन के बाद भी लोग चाहते हैं वर्क फ्रॉम होम की सुविधा, कम्पनियां भी कर रहीं विचार

लॉकडाउन के बाद भी लोग चाहते हैं वर्क फ्रॉम होम की सुविधा, कम्पनियां भी कर रहीं विचार

अब देश के 10 बड़े शहरों को लेकर एक सर्वे किया गया है। इस सर्वे में शामिल 72 फीसदी लोग वर्क फ्रॉम होम की सुविधा चाहते हैं। इन लोगों का कहना है कि वर्क फ्रॉम होम की सुविधा होने से न सिर्फ ट्रैफिक जाम की कम होगा बल्कि पर्यावरण भी शुद्ध रहेगा।

नयी दिल्ली। कोरोना महामारी के प्रसार को कम करने के लिए केंद्र सरकार ने देशव्यापी लॉकडाउन की घोषणा की थी। साथ ही साथ लोगों को वर्क फ्रॉम होम करने की सलाह दी थी। लेकिन लॉकडाउन 4.0 में मिली छूट के बाद निजी ऑफिस धीरे-धीरे खुलने लगे थे। हालांकि प्रदेश सरकारों ने यह भी कहा था कि हो सके तो निजी संस्थान अपने कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम की सुविधा जारी रखें। इसी बीच अब देश के 10 बड़े शहरों को लेकर एक सर्वे किया गया है। इस सर्वे में शामिल 72 फीसदी लोग वर्क फ्रॉम होम की सुविधा चाहते हैं।

इन लोगों का कहना है कि वर्क फ्रॉम होम की सुविधा होने से न सिर्फ ट्रैफिक जाम की कम होगा बल्कि पर्यावरण भी शुद्ध रहेगा। यह सर्वे ऑनलाइन माध्यम के जरिए दिल्ली-एनसीआर, मुंबई, चेन्नई, बेंगलुरू, हैदराबाद, कोलकाता, जयपुर, अहमदाबाद, पुणे और सूरत में किया गया है। 

इसे भी पढ़ें: वर्क फ्रॉम होम के लिए जल्द आ सकती है नई HR पॉलिसी ! 

कम्पनियों के लिए भी अच्छा है वर्क फ्रॉम होम

क्लाइमेट ट्रेंड द्वारा कराए गए सर्वे में शामिल हुए लोगों में से 90 फीसदी का मानना है कि वर्क फ्रॉम होम कम्पनियों के लिए अच्छा विकल्प है। इससे उन्हें काफी ज्यादा फायदा होगा और ऑपरेशनल कास्ट में भी बचत होगी। इतना ही नहीं सर्वे में शामिल 10 में से 9 कम्पनियों ने माना कि वर्क फ्रॉम होम के चलते उनकी ऑपरेशनल कास्ट बच रही है। तो वहीं करीब 89 फीसदी कम्पनियां इसे प्रमोट करने का विचार कर रही हैं।

लॉकडाउन के चलते शुद्ध हुई हवा

सर्वे में शामिल 90 फीसदी लोगों ने माना कि लॉकडाउन की वजह से प्रदूषण कम हुआ और हवा शुद्ध हुई है। जिसके चलते उनके स्वास्थ्य पर अच्छा खासा असर पड़ा है। यही वजह है कि अब वर्क फ्रॉम होम कर्मचारियों को भाने भी लगा है। हाल ही में ऐसी कई सारी रिपोर्ट्स सामने आई हैं जिनमें दावा किया गया कि अब लोग वर्क फ्रॉम होम करने के लिए नौकरियों की तलाश में जुट गए हैं। 

इसे भी पढ़ें: लॉकडाउन के बाद भी जारी रह सकता है वर्क फ्रॉम होम का कॉन्सेप्ट, पढ़ें पूरी रिपोर्ट 

हाल ही में जॉब साइट इंडीड की एक रिपोर्ट सामने आई थी। जिसके मुताबिक फरवरी से मई के दौरान देश में ऑफिस से दूर रहकर काम करने वाली नौकरियों की 'सर्च' में 377 फीसदी का इजाफा हुआ है। यह अपने आप में चौंका देने वाला है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।