PFI सदस्य मोहम्मद आलम की पत्नी का आरोप, मेरे पति को झूठा फंसाया गया

PFI
पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) / कैंपस फ्रंट ऑफ इंडिया (सीएफआई) के चार सदस्यों में से एक रामपुर निवासी मोहम्मद आलम की पत्नी ने पुलिस पर अपने पति को झूठा फंसाने का आरोप लगाया है।

मथुरा। उत्तर प्रदेश के हाथरस में एक दलित युवती के साथ कथित सामूहिक दुष्कर्म और उसकी मौत के बाद हिंसा फैलाने की साजिश रचने के आरोप में पकड़े गए एक पत्रकार समेत पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) / कैंपस फ्रंट ऑफ इंडिया (सीएफआई) के चार सदस्यों में से एक रामपुर निवासी मोहम्मद आलम की पत्नी ने पुलिस पर अपने पति को झूठा फंसाने का आरोप लगाया है। 

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस ने जमात-ए-इस्लामी, पीएफआई जैसे संगठनों से समझौते किये: भाजपा

आलम की जमानत याचिका पर बृहस्पतिवार को सुनवाई होनी थी और आलम की पत्नी बुशरा अपने परिजन के साथ अदालत पहुंची थी। उसने बृहस्पतिवार को अदालत परिसर में संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि पुलिस ने उसके पति को झूठ में फंसाया है। बुशरा ने दावा किया कि उसका पति आलम पढ़ा-लिखा नहीं है और परिवार का पेट पालने के लिए टैक्सी चलाता है। पुलिस ने किसी गलतफहमी के चलते उसकी गाड़ी में बैठी सवारियों के साथ ही उसे गिरफ्तार कर लिया है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़