• PM मोदी कोविड-19 फ्रंटलाइन वर्कर्स के लिए कस्टमाइज्ड क्रैश कोर्स प्रोग्राम का करेंगे शुभारंभ

अभिनय आकाश Jun 17, 2021 20:41

पीएम मोदी कोविड-19 फ्रंटलाइन वर्कर्स के लिए कस्टमाइज्ड क्रैश कोर्स प्रोग्राम का शुभारंभ करेंगे। इस कार्यक्रम के माध्यम से एक लाख से अधिक कोविड-19 फ्रंटलाइन वर्कर्स को कौशल प्रशिक्षण मिलेगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 18 जून को सुबह 11 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कोविड-19 फ्रंटलाइन वर्कर्स के लिए कस्टमाइज्ड क्रैश कोर्स प्रोग्राम का शुभारंभ करेंगे। ट्विटर के माध्यम से पीएम मोदी ने इसकी जानकारी दी। लॉन्च कार्यक्रम की शुरुआत 26 राज्यों में फैले 111 प्रशिक्षण केंद्रों में होगी। इस कार्यक्रम के माध्यम से एक लाख से अधिक कोविड-19 फ्रंटलाइन वर्कर्स को कौशल प्रशिक्षण मिलेगा। उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘‘कल 18 जून को 11 बजे पूर्वाह्न कोविड-19 के खिलाफ अग्रिम मोर्चे के योद्धाओं के लिए विशेष रूप से तैयार क्रैश कोर्स की शुरुआत करूंगा। इस कार्यक्रम के जरिए एक लाख से अधिक कोरोना योद्धओं को कौशल का प्रशिक्षण दिया जाएगा।’’ प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) की ओर से जारी एक बयान में बुधवार को कहा गया था कि इसके साथ ही 26 राज्यों में फैले 111 प्रशिक्षण केन्द्रों में इस कार्यक्रम की शुरूआत हो जाएगी।

इसे भी पढ़ें: ट्विटर विवाद पर बोले IT मंत्री, भारत में व्यापार करें पर संविधान और कानून का पालन करना पड़ेगा

इस अवसर पर केन्द्रीय कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्री महेंद्र नाथ पांडेय भी मौजूद रहेंगे। पीएमओ के मुताबिक इस कार्यक्रम का उद्देश्य देशभर में एक लाख से अधिक कोविड योद्धाओं को कौशल से लैस करना और उन्हें कुछ नया सिखाना है। इस कार्यक्रम को 276 करोड़ रुपये के कुल वित्तीय परिव्यय के साथ प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना तृतीय के केन्द्रीय घटक के तहत एक विशेष कार्यक्रम के रूप में तैयार किया गया है। इससे स्वास्थ्य के क्षेत्र में श्रमशक्ति की वर्तमान और भविष्य की जरूरतों को पूरा करने के लिए कुशल गैर-चिकित्सा स्वास्थ्यकर्मियों को तैयार किया जाएगा। किसी विषय विशेष की जानकारी देने और कौशल विकसित करने के मकसद से अल्प अवधि के लिए चलाये जाने वाले कार्यक्रम को क्रैश कोर्स कहते हैं।