UP में PM Modi ने की खेल महाकुंभ के दूसरे चरण की शुरुआत, कहा- खिलाड़ी के लिए खेल है साधना और तपस्या

PM Modi
ANI
अभिनय आकाश । Jan 18, 2023 1:47PM
पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि बस्ती महर्षि वशिष्ठ की पावन धरती है। श्रम और साधना, तप और त्याग की धरती है। एक खिलाड़ी के लिए उसका खेल भी एक साधना और तपस्या है जिसमें वो अपने आप को तपाता है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बस्ती में सांसद खेल महाकुंभ 2022-2023 के दूसरे चरण का उद्घाटन किया। इस मौके पर राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मौजूद रहे। पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि बस्ती महर्षि वशिष्ठ की पावन धरती है। श्रम और साधना, तप और त्याग की धरती है। एक खिलाड़ी के लिए उसका खेल भी एक साधना और तपस्या है जिसमें वो अपने आप को तपाता है। सफल खिलाडी का फोकस भी सटीक होता है। तब जाकर वह एक के बाद एक नए पड़ाव पर विजय और सिद्धि हासिल करता है। मुझे बताया गया है कि भारत के करीब-करीब 200 सांसदों ने अपने यहां इसी तरह एमपी खेल स्पर्धा आयोजित की है जिसमें हजारों युवाओं ने हिस्सा लिया है। सांसद खेल महाकुंभ में अच्छा प्रदर्शन करने वालों को भारतीय खेल प्राधिकरण के प्रशिक्षण सेंटर पर आगे के प्रशिक्षण के लिए चुना जा रहा है। 

इसे भी पढ़ें: Budget 2023: रेलवे को बड़ा तोहफा दे सकती है मोदी सरकार, बजट में कई नई ट्रेनों का हो सकता है ऐलान

इससे पहले योगी आदित्यनाथ ने अपने संबोधन में कहा कि पिछले 8 वर्षों में पूरे देश और पूरी दुनिया ने एक नए भारत को दर्शन किया है। दुनिया के सामने हर एक क्षेत्र में भारत ने अपनी ताकत का अहसास कराया है। आज दुनिया भी मानती है इस नए प्रक्षेप में भारत अब दुनिया का नेतृत्व करने की क्षमता अर्जित कर चुका है। सांसद खेल कूद महाकुंभ के माध्यम से ग्रामीण प्रतिभाओं का आगे बढ़ने का अवसर मिला और उन्हें एक मंच मिला। राज्य के 58,000 ग्राम पचांयतों में खेल के मैदान बनाने की कार्रवाई चल रही है जिनमें 34,000 ग्राम पंचायतों में अब तक खेल मैदान के लिए भूमि आरक्षित की गई है। कोई भी ख़िलाड़ी ओलंपिक, एशियाई, कॉमनवेल्थ या विश्व चैंपियनशिप में मेडल लाता है तो उन्हें प्रदेश सरकार प्रोत्साहित करती है। ओलंपिक में गोल्ड पदक पर 6, रजत पदक पर 3, और कांस्य पदक जितने पर 1 करोड़ रुपए की साहयता राशि देती है और प्रतिभाग करने वालों को 10 लाख रुपए। 

अन्य न्यूज़