स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि योजना के लाभार्थियों से बात करेंगे PM मोदी

PM Mod
इस दौरान प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी जुङेंगे। उन्होंने बताया कि पीएम स्ट्रीट वेण्डर आत्मनिर्भर निधि योजना की सभी तीनों श्रेणियों आवेदन, स्वीकृति और ऋण वितरण में उत्तर प्रदेश पहले स्थान पर है।
लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपनी सरकार की सबसे महत्वाकांक्षी योजनाओं में शामिल ‘पीएम स्ट्रीट वेण्डर आत्मनिर्भर निधि योजना’ के तहत उत्तर प्रदेश के लाभार्थियों के साथ मंगलवार को वर्चुअल संवाद करेंगे। राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने सोमवार को बताया कि 27 अक्टूबर को प्रधानमंत्री मोदी लाभार्थियों के साथ वर्चुअल संवाद करेंगे। इस दौरान प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी जुङेंगे। उन्होंने बताया कि पीएम स्ट्रीट वेण्डर आत्मनिर्भर निधि योजना की सभी तीनों श्रेणियों आवेदन, स्वीकृति और ऋण वितरण में उत्तर प्रदेश पहले स्थान पर है। प्रवक्ता ने बताया कि केंद्र सरकार ने कोविड–19 से प्रभावित हुये पटरी दुकानदारों और फेरीवालों को अपनी आजीविका को फिर से शुरू करने में मदद करने के लिए पिछली एक जून को ‘पीएम स्ट्रीट वेण्डर आत्मनिर्भर निधि योजना’ शुरू की थी। इस योजना का लाभ उठाने के लिए उत्तर प्रदेश में 6.40 लाख से अधिक स्ट्रीट वेंडर ने ऋण के लिये आवेदन किए। इनमें से 3,62,785 से अधिक आवेदनों के लिए ऋण स्वीकृत भी कर लिया गया है। 

इसे भी पढ़ें: PM मोदी ने किया इंडिया एनर्जी फोरम सेरावीक का उद्घाटन, कहा- विश्व की ऊर्जा मांग को भारत देगा गति

शहरी विकास विभाग के प्रमुख सचिव दीपक कुमार ने बताया कि राज्य के 651 शहरी स्थानीय निकायों में 3,050 पंजीकृत वेंडिंग जोन हैं और इन क्षेत्रों में, 7.78 लाख से अधिक विक्रेताओं की पहचान कर ली गई है। राज्य में 6.68 लाख से अधिक पंजीकृत विक्रेता हैं, सरकार ने 4,70,923 विक्रेताओं को प्रमाण पत्र भी जारी कर दिये हैं। इन विक्रेताओं को 4.77 लाख से अधिक कार्ड जारी किए गए हैं ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि वे अपने व्यवसाय को बिना किसी परेशानी के चला सकें।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़