प्रधानमंत्री को सीमाओं से ज्यादा अपनी छवि की चिंता: कांग्रेस

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 26, 2020   14:54
प्रधानमंत्री को सीमाओं से ज्यादा अपनी छवि की चिंता: कांग्रेस

पीएलए की सेना काफी आगे पहुंच चुकी हैं। आज उसकी मौजूदगी जहां है वहां से हमारी हवाई पट्टी सिर्फ 25 किलोमीटर दूर है। इसका मतलब वो सीधा गोलाबारी कर सकते हैं। एक ऐसी स्थिति वहां उत्पन्न हो गई है।

नयी दिल्ली। कांग्रेस ने शुक्रवार को दावा किया कि लद्दाख के पेंगोंग सो और गलवान घाटी के बाद चीन के सैनिक डेपसांग इलाके में भी भारतीय सीमा के अंदर घुस आए हैं और आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चीन की घुसपैठ से लगातार इनकार कर रहे हैं, क्योंकि उन्हें देश की सीमाओं से ज्यादा अपनी छवि की चिंता है। पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व रक्षा राज्य मंत्री पल्लम राजू और भंवर जितेंद्र सिंह ने यह दावा भी किया कि चीन के साथ गतिरोध न सिर्फ खुफिया विफलता है, बल्कि इस सरकार की व्यक्ति केंद्रित कूटनीति की नाकामी भी है। राजू ने वीडियो लिंक के माध्यम से संवाददाताओं से कहा, ‘‘इस मुश्किल समय में हम देश और अपनी सेना के साथ खड़े हैं, लेकिन सरकार से सवाल पूछना जारी रखेंगे।’’ उनके मुताबिक, डेपसांग में 2013 में भी चीन ने यह हरकत की थी और 21 दिनों तक गतिरोध चला था। चीन को पीछे हटना पड़ा था और पूर्व की यथास्थिति बहाल हुई थी।

राजू ने कहा, ‘‘1993 के बाद से दोनों देशों के बीच कई समझौते हुए और चीन उनका उल्लंघन कर रहा है। ऐसे में सरकार को मजबूत रुख अपनाना चाहिए था।’’ जितेंद्र सिंह ने मीडिया की खबरों और रक्षा विशेषज्ञों का हवाला देते हुए कहा, ‘‘ आज देश के सामने एक बहुत बड़ा खतरा है। मोदी जी की कमजोर सरकार में आज (डेपसांग में) एलएसी के अंदर 18 किलोमीटर तक चीन की सेना घुस चुकी है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘उपग्रह के चित्र, मीडिया की रिपोर्ट और रक्षा विशेषज्ञों के माध्यम से पता चल रहा है कि पीपी -10 और पीपी-13 तक अब हमारी भारतीय सेना के जवान और अफसर गश्त नहीं कर सकते।’’ सिंह ने यह दावा भी किया, ‘‘पीएलए की सेना काफी आगे पहुंच चुकी हैं। आज उसकी मौजूदगी जहां है वहां से हमारी हवाई पट्टी सिर्फ 25 किलोमीटर दूर है। इसका मतलब वो सीधा गोलाबारी कर सकते हैं। एक ऐसी स्थिति वहां उत्पन्न हो गई है।’’ उन्होंने सवाल किया, ‘‘ क्या प्रधानमंत्री झूठ नहीं बोल रहे हैं? क्या उनके झूठ से देश की सेना का मनोबल नहीं गिर रहा है? चीन के राष्ट्रपति के साथ उनकी 18 बार मुलाकात हुई और इन मुलकातों का देश को क्या फायदा मिला?’’ 

इसे भी पढ़ें: BJP चीफ नड्डा ने कांग्रेस पर लगाया बड़ा आरोप, PMNRF का पैसा राजीव गांधी फाउंडेशन को दिया गया

कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा, ‘‘हमें पूरा भरोसा है कि हमारी सेना फिर से चीन को खदेड़ने में सक्षम है। लेकिन सरकार समस्या से ही इनकार कर रही है और ध्यान भटकाने में लगी हुई है।’’ उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘प्रधानमंत्री जी को देश की सीमाओं से ज्यादा अपनी छवि की चिंता है। इसलिए इस समस्या से लगातार इनकार कर रहे हैं। प्रधानमंत्री जी, आप अपनी छवि की चिंता में देश की सीमाओं की सुरक्षा से समझौता क्यों कर रहे हैं?’’ खेड़ा ने कहा कि देश की जनता ने इस सरकार को 303 सीटों का विशाल बहुमत दिया है और ऐसे में देश की सीमा की सुरक्षा उनकी जिम्मेदारी है और कांग्रेस उसे इस जिम्मेदारी का अहसास कराती रहेगी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।