रतलाम के सुराणा गांव में पुलिस ने 3 बदमाशों को किया जिलाबदर, गृह मंत्री के निर्देश पर बनी पुलिस चौकी

रतलाम के सुराणा गांव में पुलिस ने 3 बदमाशों को किया जिलाबदर, गृह मंत्री के निर्देश पर बनी पुलिस चौकी

चौकी खुलने के साथ ही पुलिस ने कार्रवाही शुरू कर दी है। पुलिस ने कार्रवाही करते हुए अपराधी और गुंडे मयूर खां, शेरू उर्फ़ शेर अली और हैदर अली को गिरफ्तार किया। इसके बाद 3 अपराधियों को जिलाबदर कर दिया है।

भोपाल। मध्य प्रदेश के सुराणा को उत्तर प्रदेश का कैराना बनने से बचाने की कवायद शासन-प्रशासन ने शुरू कर दी है। गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा के आदेश के बाद ग्राम सुराणा में पुलिस चौकी खुल गई है। चौकी में सब इन्स्पेक्टर सहित कुल 13 पुलिसकर्मियों को पदस्थ किया गया है। गांव में चौकी खुलने के साथ ही हिंदुओं ने अपने घरों पर ‘यह मकान बेचना है’ के लिखे नारों पर स्याही पोत दी है।

वहीं चौकी खुलने के साथ ही पुलिस ने कार्रवाही शुरू कर दी है। पुलिस ने कार्रवाही करते हुए अपराधी और गुंडे मयूर खां, शेरू उर्फ़ शेर अली और हैदर अली को गिरफ्तार किया। इसके बाद 3 अपराधियों को जिलाबदर कर दिया है।

इसे भी पढ़ें:MP के उज्जैन जिले में 30 हजार फर्जी राशन कार्ड पकड़े, सभी को किया निरस्त 

वहीं पुलिस ने कार्रवाही करते हुए अवैध अतिक्रमण को भी तोड़ दिया है। पुलिस ने जेसीबी से अवैध रुप से बनी 6 दुकानों को तोड़ दिया है। वहीं शासकीय नाली पर बना अवैध अतिक्रमण तोड़ा। तेजाजी मंदिर के पास भी हुए अतिक्रमण को हटा दिया गया है।

दरअसल रतलाम जिले के सुराणा गांव में हिंदुओं के गांव छोड़कर जाने और घरों से बाहर ‘यह घर बिकाऊ है’ के पोस्टर लगने के बाद हड़कंप मच गया था। इस मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए तुरंत सरकार एक्टिव मोड में आ गई थी। मामला मीडिया में आने के बाद मामले को गंभीरता से लेते हुए गृह मंत्रालय ने रिपोर्ट मंगवाई थी। 

इसे भी पढ़ें:इंदौर में कोरोना का कहर जारी, लेकिन नशे में झूम रहे है CMHO, वीडियो हुआ वायरल 

वहीं सुराणा में ग्रामीणों द्वारा घर पर ‘मकान बिकाऊ है’ लिखने पर गृह मंत्री ने कहा था कि रतलाम जिला प्रशासन से बात कर रिपोर्ट मंगवाई है। वहां के पुलिस अधिकारियों से इस बारे बातचीत करूंगा।किसी को भी डरने की जरूरत नहीं हैं।

इस मामले की संवेदनशीलता देखते हुए रतलाम कलेक्टर पुरुषोत्तम कुमार और रतलाम एसपी गौरव तिवारी गांव पहंचे थे। इस मामले को सुलझाने की कलेक्टर और एसपी ने कोशिश की थी। कलेक्टर ने कहा था कि गांव में पुलिस चौकी बनेगी। जिन लोगों पर तीन अपराध दर्ज हैं, उन्हें जिलाबदर किया जाएगा। और साथ ही साथ सभी अवैध कब्जे तोड़े जाएंगे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...